वान डर वाल्स बल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
वान डर वाल्स बल के कारण ही छिपकलियाँ दीवारों तथा छतों से सटकर चल पाती हैं।

वान डर वाल्स बल एक क्षीण स्वभाव का असंयोजी रासायनिक बंध है जिसका नाम वैज्ञानिक योहानेस डिडरिक वान डर वाल्स से आता है।

वान डर वाल्स बल, संयोजी आबन्ध से नहीं आता, न ही आयनिक आबन्ध से। वान डर वाल्स बल, शून्य-बिन्दु क्षेत्र (zero-point field) के साथ क्वाण्टम अन्तःक्रिया से उत्पन्न होता है। वान डर वाल्स बल, आकर्षण हो सकता है और प्रतिकर्ष भी हो सकता है।

वान डर वाल्स बल में निम्नलिखित बल सम्मिलित हैं-

  • स्थायी द्विध्रुवों के बीच लगने वाला बल (Keesom force)
  • स्थायी द्विध्रुवों तथा उनसे प्रेरित द्विध्रुव के बीच के बल (Debye force)
  • ताक्ष्णिक रूप से प्रेरित (उत्पन्न) द्विध्रुवों के बीच (London dispersion force)

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]