ला नीना

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
2007 में ला नीना के प्रभाव से उत्पन्न समुद्र सतह को दर्शाता हुआ चित्र

ला नीना (अंग्रेज़ी: La Niña) एक प्रतिसागरीय धारा है। इसका आविर्भाव पश्चिमी प्रशांत महासागर में उस समय होता है जबकि पूर्वी प्रशांत महासागर में एल नीनो का प्रभाव समाप्त हो जाता है।

अर्थ[संपादित करें]

ला नीना स्पैनिश भाषा का शब्द है जिसका अर्थ है छोटी बच्ची। चूंकि इसका प्रभाव एल नीनो के विपरीत होता है इसलिए इसे प्रति एल नीनो भी कहा जाता है।[1]

ला नीना प्रभाव[संपादित करें]

ला नीना एल नीनो से ठीक विपरीत प्रभाव रखती है। पश्चिमी प्रशांत महासागर में एल नीनो द्वारा पैदा किए गये सूखे की स्थिति को ला नीना बदल देती है, तथा आर्द्र मौसम को जन्म देती है।[2] ला नीना के आविर्भाव के साथ पश्चिमी प्रशांत महासागर के ऊष्ण कटिबंधीय भाग में तापमान में वृद्धि होने से वाष्पीकरण अधिक होने से इण्डोनेशिया एवं समीपवर्ती भागों में सामान्य से अधिक वर्षा होती है।[3] ला नीना परिघटना कई बार दुनिया भर में बाढ़ की सामान्य वजह बन जाती है।[4]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. La Nina Archived 2013-01-31 at the Wayback Machine National Geographic Education
  2. "La Nina". मूल से 7 सितंबर 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 जून 2012.
  3. भौतिक भूगोल का स्वरूप, सविन्द्र सिंह, प्रयाग पुस्तक भवन, इलाहाबाद, २0१२, पृष्ठ४0८-0९, ISBN: ८१-८६५३९-७४-३
  4. बीबीसी हिंदी का आधिकारिक जालघर Archived 2011-01-16 at the Wayback Machine दुनियाभर में बाढ़ की वजह है 'ला नीना'

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]