लक्ष्मण शास्त्री जोशी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

लक्ष्मणशास्त्री बाळाजी जोशी (२७ जनवरी १९०१ - २७ मई १९९४) एक संस्कृतवादी, वैदिक विद्वान, विचारक और महाराष्ट्र राज्य से मराठी लेखक थे। उन्हे भारत सरकार द्वारा सन १९७६ में साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में पद्म भूषण से और १९९२ में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।

जोशी का जन्म २७ जनवरी १९०१ को पिम्पलनेर, महाराष्ट्र में हुआ।[1]

कृतियाँ[संपादित करें]

उनकी चयनित कृतियाँ निम्नानुसार हैं:[1]

  • १९३४ - शुद्धिसर्वस्वम
  • १९३८ - आनंद मीमांसा
  • १९४० - हिन्दू धर्माची समीक्षा
  • १९४१ - जडवाद
  • १९५२ - वैदिक संस्कृतीचा इतिहास
  • १९७३ - साहित्यची समीक्षा

पुरस्कार[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Sahitya Akademi Fellowship Citation" [साहित्य अकादमी फैलोशिप प्रशस्ति पत्र] (PDF). साहित्य अकादमी (अंग्रेज़ी में). १९८९. अभिगमन तिथि ४ अगस्त २०१७.
  2. "Akademi Awards (1955-2016)" [अकादमी पुरस्कार (१९५५-२०१६)]. साहित्य अकादमी (अंग्रेज़ी में). १९ जुलाई २०१७. अभिगमन तिथि २० जुलाई २०१७.
  3. "Padma Awards" (PDF). Ministry of Home Affairs, Government of India. 2015. मूल (PDF) से November 15, 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि July 21, 2015.
  4. "साहित्‍य अकादेमी फ़ैलोशिप". साहित्य अकादमी. २७ जुलाई २०१७. अभिगमन तिथि २७ जुलाई २०१७.