रोटरी इण्टरनेशनल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

रोटरी इन्टरनेशनल रोटरी क्लबों का संगठन है। रोटरी क्लब संसार भर में सेवा करने वाले क्लब हैं। यह पंथनिरपेक्ष (सेक्युलर) संगठन है जो जाति, लिंग, वर्ण या राजनैतिक विचारधारा के भेदभाव के बिना सबको सदस्य बनाती है। संसार में ३२,००० से अधिक रोटर क्लब हैं जिसमें १३ लाख से अधिक लोग सदस्य हैं।

रोटरी, व्यापार और पेशेवर लोगों का विश्वव्यापी संगठन है, जो मानवीय सेवा, सभी व्यवसायों में उच्च नैतिक स्तर को बढ़ावा देने और दुनिया में शांति और सद्भावना के निर्माण में सहायता देने हेतु विश्वव्यापी रुप से एकजुट होकर कार्यरत है.

रोट‌री के सदस्यों को रोटेरियंस कहा जाता हैं और वें पहनी हुई लेपल पिन के द्वारा आसानी से पहचाने जाते है. रोटरी व्हील, रोटरी इंटरनेशनल का आधिकारिक लोगो है. रोटरी का आदर्श वाक्य है "सेवा स्व से ऊपर".

रोटेरियंस, स्थानीय रोटरी क्लब के सदस्य होते है और उनके क्लब द्वारा निर्धारित समय पर, हर हफ्ते एक बार मिलते है. विश्व भर में फैले असंख्य स्थानीय रोट‌री क्लब "रोट‌री इन्टरनेशनल" संस्था के आधार स्तंभ है. विश्व के १६३ देशों में स्थापित ३२००० क्लबों में १३ लाख से भी ज्यादा रोटेरियंस कार्यरत हैं.

प्रशासनिक सुविधा के लिए, स्थानीय क्लबों को एक जिले में शामिल किया जाता है जिसका एक विशेष नम्बर होता है.

१९०५ में पॉल हैरिस, जो पेशे से वकील थे और अन्य तीन लोगों ने मिलकर, अमरीका के शिकागो मे रोटरी की स्थापना की. रोटरी दुनिया का सबसे पहला "सेवा संगठन" बना.

रोट‌री का वास्ता है - सत्य, न्याय, लोगों के बीच संबंधों में सुधार और विश्व शांति. रोट‌री की गतिविधियाँ, विशेष रुप से स्थानीय क्लबों के स्तर पर किए गये कार्यों से, स्थानीय और विश्व समुदाय की सेवा करने का अवसर प्रदान करता है.

रोटरी के चार उद्देश्य[संपादित करें]

  • आपसी परिचय को बढ़ाना ताकि सेवा के नित्य नये अवसर मिल सकें।
  • व्यापार व व्यवसाय में उच्च नैतिक आदर्शों की स्थापना करना। प्रत्येक आजीविका/व्यवसाय को सम्मान की दृष्टि से देखना और हर रोटेरियन की आजीविका को समाज सेवा का एक माध्यम /अवसर मानते हुए सम्मान प्रदान करना।
  • प्रत्येक रोटेरियन के निजी, व्यावसायिक व सामाजिक जीवन में सेवाभावना के आदर्श को समाहित करना।
  • अन्तरराष्ट्रीय समझ, सद्भावना व शान्ति को ऐसी व्यापारिक व व्यावसायिक गतिविधियों के सहारे से बढ़ावा देना जो सेवा भावना से ओतप्रोत हों।

सेवा के चार आयाम (Four Avenues of Service)[संपादित करें]

सेवा के चार आयाम निम्न प्रकार हैं :-

  • 1- अपने क्लब को शक्ति व अपनी सामर्थ्य भर सहयोग देना।
  • 2- अपने व्यवसाय / व्यापार / सेवा कार्य में अधिकतम सफलता हासिल करना । यह निरंतर ध्यान रखना कि दीर्घकालिक सफलता चतुर्मुखी परीक्षा पर खरे उतर कर ही हासिल हो सकती है ।
  • 3- हर आजीविका समाज सेवा का ही एक माध्यम है, अतः एक सफल कार्यकारी बन कर अपने समाज के धन, वैभव, प्रतिष्ठा, सुख-सुविधा में उत्तरोत्तर श्रीवृद्धि करना। जो किन्ही कारणों से, आपके जितना सफल नहीं हो पा रहे हैं, उनकी ओर सहायता का हाथ बढ़ाना ताकि वे भी आपके साथ कदम से कदम मिला कर चल सकें।
  • 4- रोटरी की इस भावना व ध्येय को अन्तर्राष्ट्रीय विस्तार दे कर वैश्विक स्तर पर सद्भावना व सहयोग बढ़ाना ।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]