सामग्री पर जाएँ

रास अल खैमाह राष्ट्रीय संग्रहालय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से

रास अल खैमाह राष्ट्रीय संग्रहालय ( अरबी : متحف رأس الخيم) संयुक्त अरब अमीरात के उत्तर में स्थित एक संग्रहालय है। संग्रहालय में देश के पुरातात्विक संग्रह और ऐतिहासिक कलाकृतियां हैं।

इतिहास[संपादित करें]

संग्रहालय धायाह किले में स्थित है, जिसे 16वीं शताब्दी में बनाया गया था। इस किले पर 1819 में अंग्रेजों ने हमला किया था, जिसका कारण समुद्री लुटेरों के हमले थे। 1964 तक किले का उपयोग शासक के निवास के रूप में किया जाता था। फिर किले का उपयोग पुलिस स्टेशन के रूप में और फिर उसके बाद में जेल के रूप में किया जाने लगा था। 1984 में इमारत को संग्रहालय में बदलने पर काम शुरू हुआ। इस परियोजना का नेतृत्व जयंत लक्ष्मण ने किया था। संग्रहालय पहली बार 1987 में खोला गया था। उद्घाटन के पहले वर्ष के दौरान, मर्शेल शेंकेल ने संग्रहालय को सीपियों का एक संग्रह दान किया था। संग्रहालय के जीवाश्म दुबई के पारिस्थितिकी समूह द्वारा दान किए गए थे, जिन्हें 1984 और 1986 के बीच में एकत्र किया गया था। [1]

संग्रह[संपादित करें]

रास अल खैमाही के राष्ट्रीय संग्रहालय में मजलिस में पुरानी बंदूकें

संग्रहालय के संग्रह आंशिक रूप से शहर के निवासियों और कुवासिम परिवार द्वारा दान किए गए थे। [2] संग्रहालय में मिट्टी के बर्तनों के संग्रह, पुरातात्विक चित्र, साइट पुनर्निर्माण, और लौह युग, सासनी अवधि और इस्लामी काल से टाइपोलॉजी शामिल हैं। संग्रहालय में मछली पकड़ने के जाल का संग्रह भी है। [1] संग्रहालय में फलाया पैलेस में पाया गया एक 19वीं सदी का सिक्का है, जहां ब्रिटिश और ट्रुशियल राज्यों के बीच शांति संधि पर हस्ताक्षर किए गए थे, इस सिक्के को "मर्दौफ अल कुवासिम" कहा जाता है। इसके अलावा संग्रहालय में एक मदबासा, 2000 साल पहले सिरप का इस्तेमाल किया गया एक आर्टिफैक्ट, 12 वीं शताब्दी का सोने का सिक्का, और शामल कांस्य युग के आबादी वाले स्थल पर पाया गया 4000 वर्ष पुराना ताड़ का बीज शामिल है। [3] संग्रहालय में वादी अल-क़ावर की बेलन के आकार की मुहरें हैं। [4] संग्रहालय में मूसा के पुत्र डेविड से संबंधित एक मकबरा है, जो 1970 के दशक में रास अल खैमाह के निवासियों द्वारा पाया गया था। [5] अक्टूबर 2020 में संग्रहालय ने क्षेत्र में सांस्कृतिक प्रथाओं और विरासत में खजूर के पेड़ के महत्व और इतिहास के बारे में तामरा प्रदर्शनी का शुभारंभ किया था। [6] संग्रहालय में रास अल खैमाह के अमीरात में पाए जाने वाले प्राचीन हथियार और पुरावशेष हैं, इसके अलावा संग्रहालय में के संग्रह को समर्पित एक विशेष कमरा है, जिसमे चांदी से बनी चीज़े जैसे की गहने और बर्तन हैं। [7]

संदर्भ[संपादित करें]

 

  1. Exell, Karen (2016-03-10). Modernity and the Museum in the Arabian Peninsula (अंग्रेज़ी में). Routledge. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-317-27901-3. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> अमान्य टैग है; ":0" नाम कई बार विभिन्न सामग्रियों में परिभाषित हो चुका है
  2. "National Museum of Ras Al Khaimah". Department of Antiquities and Museums. अभिगमन तिथि 2021-11-19.
  3. Haza, Ruba (2020-10-15). "Ras Al Khaimah National Museum to reopen after six months". The National. अभिगमन तिथि 2021-11-19.
  4. Reade (2013-10-28). Indian Ocean In Antiquity (अंग्रेज़ी में). Routledge. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-136-15531-4.
  5. "Ancient relics and a futuristic interfaith hub: 4 Jewish things to do in the UAE". The Times of Israel (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2021-11-19.
  6. "National Museum of Ras Al Khaimah Set to Reopen with Tamra (Date Palm) Exhibition - Ras Al Khaimah Media Office". Ras Al Khaimah Government Media Office (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2021-11-19.
  7. Hussein, Mohamed. "متحف رأس الخيمة الوطني.. وجهة تراثية مميزة لعشاق التاريخ الإماراتي الأصيل". Hia Magazine (अरबी में). अभिगमन तिथि 2021-11-19.