सामग्री पर जाएँ

रमाबाई आम्बेडकर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
रमाबाई आम्बेडकर
जन्म 07 फ़रवरी 1898
वणंदगाव, रत्नागिरी
मौत मई 27, 1935(1935-05-27) (उम्र 37)
राष्ट्रीयता भारतीय
जाति महार
जीवनसाथी भीमराव आम्बेडकर
बच्चे यशवंत आम्बेडकर

रमाबाई भीमराव आंबेडकर ( 07 फ़रवरी 1898 - २७ मई १९३५) भीमराव आम्बेडकर की पत्नी थीं।[1]

जीवन[संपादित करें]

रमाबाई का जन्म एक गरीब परिवार में हुआ था। वो अपने पिता भिकु धुत्रे (वलंगकर) व माता रुक्मिणी के साथ पास के वंणद गांव में नदी किनारे महारपुरा बस्ती में रहती थी। उन्हें ३ बहनें व एक भाई - शंकर था। रमाबाई की बड़ी बहन दापोली में रहती थी। भिकु दाभोल बंदरगाह में मछलिओं से भरी हुई टोपलिया बाजार में पहुंचाते थे। रमा के बचपन में ही उनकी माता का बिमारी से निधन हुआ था। माता के जाने से बच्ची रमा के मन पर आघात हुआ। छोटी बहन गौरा और भाई शंकर तब छोटे थे। कुछ दिन बाद उनके पिता भिकु का भी निधन हो गया। आगे वलंगकर चाचा और गोविंदपुरकर मामा इन सब बच्चों को लेकर मुंबई में चले गये और वहां भायखला चाळ में रहने लगे।

सुभेदार रामजी आंबेडकर यह अपने पुत्र भीमराव आंबेडकर के लिए वधू की तलाश कर रहे थे। वहां उन्हे रमाबाई का पता चला, वे रमा को देखने गये। रमा उन्हें पसंद आई और उन्होंने रमा के साथ अपने पुत्र भीमराव की शादी कराने का फैसला कर लिखा। विवाह के लिए तारिख सुनिश्चित कि गई और अप्रैल १९०६ में रमाबाई का विवाह भीमराव आंबेडकर से सपन्न हुआ। विवाह के समय रमा की आयु महज ९ वर्ष एवं भीमराव की आयु १४ वर्ष थी और वे ५ वी अंग्रेजी कक्षा पढ रहे थे।

निधन[संपादित करें]

२७ मई १९३५ को सुबह के ९ बजे रमाईबाई का निधन हुआ।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. मुरलीधर खजने (१५ अप्रैल २०१६). "The life and times of Ramabai Ambedkar" [रमाबाई अम्बेडकर का जीवन और समय] (अंग्रेज़ी में). द हिन्दू. मूल से 13 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि १२ फ़रवरी २०१७.