यूसुफ़ मेहर अली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यूसुफ़ मेहर अली (23 सितंबर, 1903 - 2 जुलाई, 1950) एक समाजवादी विचारधारा वाले राजनेता व स्वतंत्रता सेनानी थे। उन्हें 1942 में बॉम्बे का मेयर चुना गया था,[1] जब वे यरवदा सेंट्रल जेल में कैद थे।[2]

वह नेशनल मिलीशिया, बॉम्बे यूथ लीग और कांग्रेस सोशलिस्ट पार्टी के संस्थापक थे,[3] और उन्होंने कई किसान और ट्रेड यूनियन आंदोलनों में भूमिका निभाई। उन्होंने 'साइमन गो बैक' का नारा गढ़ा था।[4]

"भारत छोड़ो" का नारा भी उन्होंने ही दिया था,[5][6] और ब्रिटिश साम्राज्य से स्वतंत्रता के लिए भारत के इस अंतिम राष्ट्रव्यापी अभियान में महात्मा गांधी के साथ उन्होंने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Welcome to Municipal Corporation of Greater Mumbai, India". www.mcgm.gov.in. मूल से 19 जनवरी 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 सितंबर 2019.
  2. "Archived copy". मूल से 10 October 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 September 2010.सीएस1 रखरखाव: Archived copy as title (link)
  3. "Archived copy". मूल से 10 October 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 September 2010.सीएस1 रखरखाव: Archived copy as title (link)
  4. Nauriya, Anil (31 October 2003). "'Simon Go Back' — 75 years after". The Tribune. Chandigarh, India. मूल से 12 दिसंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 31 January 2019.
  5. "महात्‍मा गांधी ने नहीं, इस शख्‍स ने दिया था Quit India का नारा!". मूल से 20 सितंबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 सितंबर 2019.
  6. "English rendering of the text of PM's 'Mann ki Baat' programme on All India Radio on 30.07.2017". pib.nic.in. मूल से 16 दिसंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-05-26.