मूल्य (नीतिशास्त्र)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

नीतिशास्त्र में, मूल्य किसी चीज़ या क्रिया के महत्त्व को दर्शाता है, व साथ ही, इसका लक्ष्य यह निर्धारित करना होता है कि कौनसे कार्य श्रेष्ठ है करने हेतु या कौनसा तरीका श्रेष्ठ है जीने हेतु (कर्तव्यविज्ञान), अथवा विभिन्न क्रियाओं की महत्ता को वर्णित करना होता है (मूल्यमीमांसा) mulya ka arthsastra me arth kemat se lete h

मूल्य प्रणाली[संपादित करें]

मूल्य प्रणाली संगत मूल्यों का एक समुच्चय है, जिसका उपयोग नीतिशास्त्रीय या वैचारिक अखण्डता हेतु होता है।