मुनशा सिंह दुखी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मुनशा सिंह दुखी
जन्म 1 जुलाई 1890
जंडियाला मंजकी, जालंधर जिला, पंजाब
मृत्यु 26 जनवरी 1971(1971-01-26) (उम्र 80)
भारत

मुनशा सिंह दुखी (1 जुलाई 1890 - 26 जनवरी 1971) ब्रिटिश साम्राज्य से भारत की आजादी के लिए लड़ाई में एक राष्ट्रीय क्रांतिकारी और कवि थे। बह प्रसिद्ध गदर पार्टी में थे और तीसरे लाहौर षड्यंत्र केस के तहत उन्हें उम्रकैद की सज़ा दी गई थी।[1]

जीवन[संपादित करें]

मुनशा सिंह का जन्म ब्रिटिश पंजाब के जालंधर जिले के, जंडियाला मंजकी में1 जुलाई 1890 को हुआ था। उन्होंने अनौपचारिक शिक्षा प्राप्त की, और अंग्रेजी, हिन्दी, उर्दू, बांग्ला का एक अच्छा ज्ञान प्राप्त कर लिया था।[2]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Trials that Changed History: From Socrates to Saddam Hussein By M.S. Gill". मूल से 1 जनवरी 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 1 जनवरी 2015.
  2. "संग्रहीत प्रति". मूल से 1 जनवरी 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 1 जनवरी 2015.