माल्कम २

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

ब्रिटेन का शासक।

माल्कम २

माल्कम २[संपादित करें]

माल्कम २ [1] स्कॉटलैंड का राजा था।वह राजा केन्नथ २ का बेटा था।स्कॉटलैंड के भौगोलिक सीमाओं के अनेक राजाओं से यह एक था।उनके साथी राजाओं में स्त्रेथक्लैड का राजा और मोराय का राजा भी आता हैं।वह विध्वंसक के रूप में जाना जाता है।

जीवन वृत्त[संपादित करें]

स्कॉटलैंड के राजा केन्नथ का पुत्र है।वह स्कॉटलैंड[2] का माल्कम का पोता है। ९९७ को कान्स्टण्टैन के घातक को केन्नथ बुलाया जाता है।लेकिन तब कोई केन्नथ ज़िदा नहीं था और राजा केन्नेथ की मृत्यु ९९५ को हो चुकी थी।यह बात अब तक साबित नहीं हो पाया है कि माल्कम ने कान्स्टण्टैन को मारा है कि नहीं लेकिन १००५ को उन्होने कान्स्टण्टैन का उत्तराधिकारी केन्नथ ३ को स्त्रथन में मारा था।फोरडन ने लिखा था की माल्कम ने अपने राज्याभिषेक के कुछ दिनों बाद ही नोर्वेजियन सेना को पराजित किया। किंतु इस बात का उल्लेख और कहीं नहीं हुआ है।

सन्तान[संपादित करें]

माल्कम का उत्तरधिकारी का चुनाव राजा अएद्ग के वंश से चर्च की अनुमति से माल्कम को खुद करना था।उत्तर स्कॉटलैंड के झगडे को खतम करने केलिए उन्होने परंपरा के विरुद्ध जाकर अपने वंश में उत्तराधिकारि ढूढने का निर्णय लिया। माल्कम का कोई पुत्र नहीं था और इसलिए उन्होने अपनी तीन बेटियों का विवाह अपने प्रतिद्वंदियों से करने का निर्णय लिया।इसप्रकार मल्कोम ने अपने प्रतिद्वंदियों का भरोसा जीता।पहले उन्होने अपनी बेटी बेथोक का विवाह ताइन ओफ आय्लस क्रिनन से करा दिया। अपनी दूसरी बेटी ओलित का विवाह उन्होने ओर्क्नी के राजा सिगर्ड से करा दिया और अपनी बीच की बेटी डोनाडा का विवाह मोराय के राजा फिनलय से करा दिया।उन्होने २९ साल शासन किया।

बर्निसिया[संपादित करें]

माल्कम के शासन को साबित करनेवाला पहला वृतान्त १००६ को बर्निसिया पर हुआ आक्रमण था।इस आक्रमण में नोर्थुम्बियन्स का हार हुआ। बर्निसिया पर १०१८ को दुसरा युद्ध हुआ।माल्कम २ के नेतृत्व में स्कॉटस जीत गए।करहम में हुए युद्ध सफल हुआ।तब तक राजा उक्त्रड की मृत्यु हो चुकी थी और एरिक हाकनार्सन को राजा बना।

ओर्क्नि और मोरय[संपादित करें]

माल्क्म की बेटी ओलित का विवाह ओर्क्नि का राजा सिगर्ड ह्लोडविस्सण से हुआ था। उनका पुत्र थोर्फिन्न सिगर्डस्सन जब ५ साल का था तब क्लोन्टार्फ के युद्ध में सिगर्ड की मृत्यु हो गई। थोर्फिन अपने नाना के महल में बड़ा हुआ।थोर्फिन के जीवन का कालक्रम संदिग्ध रहा।ओर्क्नि के रियासत में उसका हिस्सा शायद रहा होगा। माल्कम ने अगर मोरय पर अधिकार स्थापित किया था तो उत्त्रर में हुए कई संघर्षो की और यह इशारा करता है।माक बताड के पिता फिन्डलश रुअद्रि को माल ब्रिग्ते के बेटे ने मार दिया।माल ब्रिग्ते ने मोरय पर आधिपत्य स्थापित किया।अंग्रेज़ी और स्कान्डिनेवियन लेखक माक बताड को मोरय का वास्तविक राजा मानते थे।माल्कम के बाद उनका भाई गिल्लेकोग्मन राजा बना।वह ग्रोच का पति था।यह माना गया है कि माक बताड 1032 में गिलिकोग्म्न की हत्या के लिए जिम्मेदार था।माल्कम का कोई बेटा नहीं था और यह उनके शासन केलिए खतरा था और इसके कारण उन्होने अपने भतीजे को मार दिया।

स्त्रेतक्लैड और शासन[संपादित करें]

राजा ओवेन कारहम में हुए युद्ध में मारे गये और स्कोट्स शासन करने लगे। लेकिन इसका कोई दृढ प्रमाण नहीं है।यह निश्चित है कि ओवेन की मृत्यु कारहम पर हुआ और यह भी निश्चित है कि १०५४ तक स्त्रेतक्लैड के राजा जिंदा थे। लेकिन यह अब भी स्थापित नहीं हो पाया कि स्कोट्स ने स्त्रेतलैड पर शासन किया था कि नहीं।अगर मालकोम के कोइ पुत्र थे भी उनकी मृत्यु १०३० तक हुआ होगा। माल्कम का पोता तोर्फिन का एक राजा होने की संभावना कम थी और मालकोम ने अपनी अन्य पुत्रियों के बेटों को चुना होगा।

मृत्यु[संपादित करें]

१०३४ को माल्कम की मृत्यु हुई।विपक्ष की अनुपस्थिति यह साबित करता है कि जीते जी उन्होने अपने विपक्ष से निपटा था। राजाओं का मानना है कि उनकी मृत्यु ग्लमिस[3] पर हुई थी।

ग्लमिस पर राजा की समाधि

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. https://www.britannica.com/biography/Malcolm-II
  2. http://bharatdiscovery.org/india/%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%95%E0%A5%89%E0%A4%9F%E0%A4%B2%E0%A5%88%E0%A4%82%E0%A4%A1
  3. http://www.scotclans.com/scotland/kings-queens/1005-malcolm2/