मार्क्सवादी संशोधनवाद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मार्क्सवादी आन्दोलन के अन्तर्गत, संशोधनवाद (revisionism) उन विभिन्न विचारों और सिद्धान्तों को कहते हैं जो मार्क्सवाद के मूलभूत अवधारणाओं में पर्याप्त संशोधन करके प्रस्तुत किए गये हैं। 'रिविजनिज्म' शब्द का प्रयोग वे मार्क्सवादी करते हैं जिनका विश्वास है कि मार्क्सवाद में ऐसे संशोधन अवांछित हैं और मार्क्सवाद को क्षीण करने या त्यागने के उद्देश्य से लाए गये हैं। 'वर्ग संघर्ष को नकारना' संशोधनवादी सिद्धान्त का एक आम उदाहरण है।