माता साहिब कौर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

माता साहिब कौर, सिखों के दशम गुरु गोविन्द सिह जी की पत्नी थीं।। उनका विवाह से पहले नाम 'जीतो' था। उनके सुन्दर रूप के कारण उनको सभी 'सुन्दरी' बुलाने लगे। उनके विवाह के बाद दोनों नामों से सभी बुलाते रहे। खालसा साजना पर गुरु जी ने सह परिवार अमृतपान किया (मतलब गुरु दीक्षा ली) तो माता जीतो / सुँदरी जी का नाम साहेब कौर रखा गया।