माँडना चित्रण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मांडणा चित्रण मीणा जनजाति की महिलाओं द्वारा बनाये जाने वाली दीवार और फर्श चित्रकला का एक प्रकार है। मीणा जनजाति राजस्थान और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में रहने वाला एक पुराना समुदाय है। परंपरा अनुसार यह कला माँ से बेटी को पारित की जाती है।

माँगलिक भिति चित्रकारी माँडना को घर-बार की रक्षा करने, अपने घर में देवी - देवताओं का स्वागत करने तथा त्यौहारों के अवसर पर उसे मनाने के उद्देश्य से बनाया जाता है। राजस्थान के सवाई माधोपुर क्षेत्र में गाँव की महिलाओं में बिलकुल सही अनुपात एवं शुद्धता से डिजाइन बनाने की स्वाभाविक क्षमता हैं।

Mandana Painting.JPG

मांडणा चित्रण बनाने क लिए राजस्थानी महिलाएं फर्श पे कुछ बिन्दुओं के निशान बनाती हैं जिन्हें तपकिस कहा जाता है। फिर इन तपकिस को रेखाओं से जोड़ कर एक रेखाचित्र बनाया जाता है। इस प्रकार प्रत्येक मांडणा चित्रकारी के साथ एक रेखाचित्र सम्बद्ध है जो उसके चित्रण में अत्यंत सहायक होता है। [1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Chaitanya, Krishna (1994). A history of Indian painting (1 publ. संस्करण). New Delhi: Abhinav Publ. पृ॰ 73. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788170173106.