मनोकामना मन्दिर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मनोकामना मन्दिर
Gorkha Manakamana Temple.jpg
धर्म संबंधी जानकारी
सम्बद्धताहिंदू धर्म
अवस्थिति जानकारी
ज़िलागोर्खा
देशनेपाल
वास्तु विवरण
प्रकारपैगोड़ा
मनोकामना मंदिर में ऐतिहासिक घंट

मनोकामना/मनकामना भगवति गोरखा में स्थित मनोकामना मन्दिर भी एक महत्वपूर्ण देवीस्थान शक्तिपीठ माना जाता है। मन कि कामना पूरी होती है ऐसा माने जाने के कारण इस भगवती का नाम मनोकामना पड़ गया। राम शाह की रानी स्वयं मनोकामना भगवती का अवतार थीं यह जनविश्वास है। दशहरे में पूजा करने आने वाले श्रद्धालुओं कि बहुत बड़ी भीड़ लगती है। यहाँ प्रत्येक अष्टमी के दिन बली चढ़ाने की परंपरा है। मनोकामना के दर्शन से मनोकांक्षा पूरी होती है ऐसा धार्मिक विश्वास छ।

पता[संपादित करें]

मनोकामना मन्दिर, गोर्खा जिला मुख्यालय से दक्षिणपुर्वी भाग कि ओर अवस्थीत है। यह मन्दिर गोर्खा के मुख्यालय पोखरीथोक बाजार से १२ किलोमिटर दक्षिण, तनहू के आबुखैरेनी से ५ किलोमिटर पूर्व और चितवन के मुग्लिन से २६ किलोमिटर उत्तर में अवस्थित है। समुद्री सतह से १३०३ मिटर के ऊँचाई पर अवस्थित यह मन्दिर के परिसर से दक्षिण के तरफ महाभारत झील और छिम्केश्वरी डाँडा के साथ हि उत्तरी भाग में अन्नपुर्ण हिमालय और मनास्लु हिमालय कि चोटियां देखी जा सकती है। मन्दिर प्रांगण से सुर्यादय और सुर्यास्त का मनमोहक दृष्य देखा जा सकता है।। [1]

कैसे जायें[संपादित करें]

मनकामना मंदिर जाने के लिए काठमांडू से पोखरा वाले रास्ते पर जाएं और मुगलिंग से 26 किलोमीटर पहले उत्तर कर सड़क किनारे ही मनोकामना देवी के मंदिर का प्रवेश द्वार है।

बुटबल से मुगलिंग पहुंचे और फिर काठमांडू के रास्ते पर 26 किलोमीटर आगे बढ़े मनकामना मंदिर का प्रवेश द्वार मिलेगा।
वहीं से रोपवे से मनकामना मंदिर जा सकते हैं

मन्दिर का इतिहास[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "मनकामनाडटइन्फो". मूल से 5 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 6 मार्च 2016.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ सामग्री[संपादित करें]