मध्यजीवी महाकल्प

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मध्यजीवी महाकल्प या मीसोज़ोइक महाकल्प (Mesozoic Era) पृथ्वी के भूवैज्ञानिक इतिहास में एक महाकल्प था, जो आज से 25.217 करोड़ वर्ष पहले आरम्भ हुआ और 6.6 करोड़ वर्ष पहले अंत हुआ। इस से पहले पुराजीवी महाकल्प (पेलियोज़ोइक, Paleozoic) था और इस के बाद नूतनजीवी महाकल्प (सीनोज़ोइक, Cenozoic) आया जो आज तक चल रहा है। नूतनजीवी, मध्यजीवी और पुराजीवी महाकल्प तीनो मिलाकर दृश्यजीवी इओन (फ़ैनेरोज़ोइक, Phanerozoic) के तीन भाग हैं। मध्यजीवी महाकल्प को "सरिसृपों का महाकल्प" और "कोणधारियों का महाकल्प" भी कहते हैं, क्योंकि इसमें इन प्राणीवनस्पति जातियों में विविधता क्रमविकसित हुई।[1]

मध्यजीवी महाकल्प के कल्प[संपादित करें]

मध्यजीवी महाकल्प को तीन भूवैज्ञानिक कल्पों में विभाजित करा जाता है:

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Dean, Dennis R. (1999). Gideon Mantell and the Discovery of Dinosaurs. Cambridge University Press. pp. 97–98. ISBN 0521420482