भूवैज्ञानिक रचना

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
संयुक्त राज्य अमेरिका के यूटाह राज्य में समरविल नामक स्थान पर इस चट्टान में अलग-अलग भूवैज्ञानिक रचनाओं की परतें देखी जा सकती हैं

भूविज्ञान में भूवैज्ञानिक रचना (geological formation) पत्थर का कोई ऐसा समूह या विस्तार होता है जिसके पूरे भाग के भौतिक गुण एक जैसे हों और अपने आसपास के पत्थर के विस्तारों से भिन्न हों। भूवैज्ञानिक स्तरिकी (stratigraphy) में ऐसी भूवैज्ञानिक रचनाओं का अध्ययन करा जाता है, मसलन कई स्थानों पर पत्थर की अलग-अलग भूवैज्ञानिक रचनाएँ अलग-अलग परतों में स्पष्ट दिखाई देती हैं।[1][2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Boggs, Sam Jr. (1987). Principles of sedimentology and stratigraphy (1st संस्करण). Merrill Pub. Co. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0675204879.
  2. North American Commission on Stratigraphic Nomenclature (November 2005). "North American Stratigraphic Code" (PDF). AAPG Bulletin. 89 (11): 1547–1591. डीओआइ:10.1306/07050504129. अभिगमन तिथि 8 August 2020.