बृहद्रथ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

बृहद्रथ नाम से कई व्यक्तियों का उल्लेख वैदिक तथा पुराणेतिहास ग्रंथों में हुआ है, जो निम्नांकित हैं :

  • (१) पुराकालीन व्यक्ति की स्थिति से बृहद्रथ का सबसे प्राचीन उल्लेख ऋग्वेद (१.३६-१८) में दो बार नववास्त्व के साथ हुआ है जो इंद्र से पराजित होकर मारा गया था (ऋ. १०/४६/६)।
  • (२) चेदिराज उपरिचर वसु का पुत्र, जरासन्ध का पिता जो मगध का राजा और महान् योद्धा था (महाभारत आदिपर्व, ५७/२९; सभापर्व, १६/१२)।
  • (५) एक पौराणिक राजा जो पृथुलाक्ष (भा.पु.), बृहत्कर्मन् (वायुपुराण) अथवा भद्ररथ (विष्णुपुराण) का पुत्र था।

अन्य अनेक पौराणिक व्यक्ति इसी नाम से संबोधित हैं जो एक दूसरे से भिन्न प्रतीत होते हैं जैसे,

  • (क) इंदुमती के पति, एक राजा (स्कंदपुराण ६/१/३७),
  • (ख) सूक्ष्म नामक दैत्य के अंश से उत्पन्न महाभारतकालीन राजा,
  • (ग) कौरव सेना का एक योद्धा,
  • (घ) तिमिराजा का पुत्र,
  • (ङ) शतधन्वन् का पुत्र जो मौर्य वंश का अंतिम राजा था (बृहद्रथ मौर्य),
  • (च) मैत्रायणी उपनिषद में चर्चित एक ब्रह्मज्ञानी आदि।