बलदेव प्रसाद मिश्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

बलदेव प्रसाद मिश्र (१२ सितम्बर १८९८ - ४ सितम्बर १९७५) हिन्दी साहित्यकार, न्यायविद तथा लोकसेवक थे। वे भारत के ऐसे प्रथम शोधकर्ता थे जिन्होने अंग्रेजी शासनकाल में अंग्रेजी के बदले हिन्दी में अपना शोध प्रबन्ध प्रस्तुत कर डी लिट् की उपाधि अर्जित की (१९३९ में)। उन्होने तुलसी दर्शन पर विशेष कार्य किया था। लगभग ८५ प्रकाशित अथवा अप्रकाशित कृतियाँ उनके नाम हैं।

परिचय[संपादित करें]

श्री बल्देवप्रसाद मिश्र का 12 सिंतंबर सन् 1898 में राजनांदगांव में हुआ था। वे श्री शिवरतन मिश्र के पौत्र और श्री नारायणप्रसाद मिश्र के पुत्र थे। वे बचपन से ही वे प्रतिभाशाली थे। उनकी रूचि साहित्य में शुरू से ही थी। बी. ए. एल. एल-बी. तथा एम. ए. दर्शनशास्त्र की परीक्षा मारिस कालेज नागपुर से पास करने के बाद उन्होंने वकालत शुरू की मगर उसमें वे सफल नहीं हुये और सन् 1923 में राजा चक्रधरसिंह के बुलावे पर रायगढ़ आ गये। यहां वे 17 वर्षो तक न्यायधीश, नायब दीवान और दीवान रहे और अनेक महत्वपूर्ण कार्य किये जिसके लिये वे हमेशा याद किये जायेंगे। 11-12 वर्ष की आयु में उन्होंने पहली कविता लिखी।

कृतियाँ[संपादित करें]

श्री बलदेव प्रसाद मिश्र ने १०० से अधिक ग्रन्थों का प्रणयन किया है। जिनमें जीव विज्ञान, कौशल किशोर, रामराज्य, साकेत-सन्त, तुलसी दर्शन, भारतीय संस्कृति, मानस में रामकथा, मानसमाधुरी, जीवन संगीत, उदात्त संगीत प्रमुख हैं।

उनकी कृतियों की विस्तृत सूची निम्नलिखित है-

काव्य ग्रंथ[संपादित करें]

1- श्रृंगार शतक (ब्रजभाषा मुक्तक) 1928 भतृहरि के श्रृंगार शतक का भावानुवाद

2- वैराग्य शतक (ब्रजभाषा मुक्तक) 1928 भतृहरि के वैराग्य शतक का भावानुवाद

3- छाया कुंडल (मुक्तक लेखमाला) 1932

4- कौशल किशोर (महाकाव्य) 1934

5- कौशल किशोर संशोधित 1955

6- जीवन संगीत (मुक्तक) 1940

7- साकेत सन्त (मुक्तक) 1946

8- साकेत सन्त (मुक्तक) संशोधित 1955

9- हमारी राष्ट्रीयता (अनुष्टुप छंद) 1948

10- स्वग्राम गौरव 1951

11- अंत: स्फूर्ति (मुक्तक) 1954

12- मानस के चार प्रसंग 1955

13- श्याम शतक (ब्रजभाषा) पुरस्कृत 1958

14- व्यंग्य विनोद 1961

15- उदात्ता संगीत, पुरस्कृत 1965

16- गांधी गाथा 1969

समीक्षात्मक ग्रंथ[संपादित करें]

1. जीव विज्ञान (मानव शास्त्र पर गणवेषात्मक निबंध) 1928

2. साहित्य लहरी (हिन्दी साहित्य के इतिहास का सिंहावलोकन) पुरस्कृत 1934

3. तुलसी दर्शन डी. लिट् प्रबंध एम.ए. पाठय ग्रंथ 1938

4. मानस मंथन 1939

5. भारतीय संस्कृति 1952

6. मानस में रामकथा 1952

7. भारतीय संस्कृति की रूपरेखा 1952

8. छत्तीसगढ़ परिचय 1955

9. मानस माधुरी, पुरस्कृत 1958

10. भगवद्गीता (गद्यात्मक विवेचन) 1958

11. सुराज्य और रामराज्य (मानस माधुरी का अंश) 1958

12. मानस की सूक्तियां (मानस माधुरी का अंश) 1958

13. रघुनाथ गीता (मानस माधुरी का अंश) 1958

14. राम का व्यवहार (मानस माधुरी का अंश) 1958

15. मानस में उक्ति सौष्ठव (मानस माधुरी का अंश) 1958

17- मानस रामायण (रामकथा का आध्यात्मिक विवेचन) 1959

18- सुंदर सोपान- सुंदर कांड की टीका, लेखमाला के रूप में 1957-59 तक प्रकाशित

19- बिखरे विचार 1950-60 तक

20- भारत की एक झलक 1972

21- तुलसी की रामकथा 1974

नाटक[संपादित करें]

1. शंकर दिग्विजय (एम.ए. की पाठय पुस्तक) 1922

2. असत्य संकल्प (स्कूली पाठय पुस्तक) 1928

3. वासना वैभव (स्कूली पाठय पुस्तक) 1928

4. समाज सेवक (स्कूली पाठय पुस्तक) 1928

5. मृणालिनी परिचय (स्कूली पाठय पुस्तक) 1928

6. क्रांति (शंकर दिग्विजय का रूपांतरण) 1939

विविध[संपादित करें]

1- काव्य कलाप एम.ए. की पाठय पुस्तक (आलोचनात्मक संकलन) 1942

2. सरल पाठ माला भाग 1-5 (रियासती प्रायमरी स्कूलों की पाठय पुस्तकें) 1942

3. सुमन (निबंध संकलन) मेट्रिक की पाठय पुस्तक 1944

3. काव्य कल्लोल भाग 1 एवं 2 बी.ए. की पाठय पुस्तक (प्राचीन तथा अर्वाचीन कवियों का आलोचनात्मक संकलन) 1955

4. साहित्य संचय (निबंध) 1955

5. भारतीय संस्कृति को गो. जी. का योगदान 1955

6. संक्षिप्त अयोध्याकांड (मेट्रिक की पाठय पुस्तक) 1957

7. उत्ताम निबंध 1962

8. तुलसी शब्द सागर

अनुवाद[संपादित करें]

1- मादक प्याला (खैय्याम का पद्यानुवाद) 1932

2. गीत सार (गद्य) 1934

3. ईश्वर निष्ठा (अंग्रेजी का भावानुवाद लेखमाला) 1950

4. उमर खैय्याम की रूबाइयां 1951

5. ज्योतिष प्रवेशिका 1952

अप्रकाशित ग्रंथ[संपादित करें]

1- अमर सूक्तियां (अमरूक शतक का पद्यानुवाद)

2- सांख्य तत्व (सांख्यिकारिका का पद्यानुवाद)

3- मेरे संस्मरण

4- सरोज शतक (अन्योक्ति परक ब्रज पद्य मुक्तक)

5- नरेश शतक (वीर रसात्मक ब्रज पद्य मुक्तक)

6- प्रचार गीत (भारत सेवक समाज)

7- छत्तीसगढ़ का जनपदीय साहित्य

8- संस्कृत साहित्य सौरभ

9- मानस मुक्ता

10- विनोदी लेख

11- रोचक यात्राएं

12- हिन्दी भाषा और साहित्य

13- कथा संग्रह

14- पुराण विज्ञान

15- काव्य संग्रह

अधूरी कृतियां[संपादित करें]

1- मन्मथ मंथन (ब्रजभाषा)

2- श्रृंगार सार (गणवेशात्मक सार)

3- संसार सागर (व्यंग्यात्मक उपन्यास)

4- विमला देवी (ऐतिहासिक उपन्यास)

5- बिखरे समीक्षात्मक निबंध

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]