फोटोडायोड

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
{{{component}}}
प्रकारPassive
कार्य सिद्धान्तप्रकाश को विद्युत धारा में बदलता है।
विद्युतीय प्रतीक
Photodiode symbol.svg
पिन विन्यासएनोड और कैथोड
अलग-अलग प्रकार के फोटोडायोड
फोटोडायोड का I-V वैशिष्ट्य। The linear load lines represent the response of the external circuit: I=(Applied bias voltage-Diode voltage)/Total resistance. The points of intersection with the curves represent the actual current and voltage for a given bias, resistance and illumination.
फोटोडायोड को परिपथ में रिवर्स बायस में लगाकर उपयोग करते हैं। इसके सीरीज में लगे प्रतिरोध पर जो सिगनल मिलता है वह फोटोडायोड पर पड़ने वाले प्रकाश की तीव्रता के समानुपाती होता है।

फोटोडायोड (photodiode) एक अर्धचालक युक्ति है जो [[प्रकाश] को विद्युत ऊर्जा (या, विद्युत धारा) में बदलती है। दूसरे शब्दों में, यदि फोटोडायोड किसी लोड से जुडा है और इस पर प्रकाश आपतित होता है, तो इसमें विद्युत धारा बहने लगती है। सौर सेल (solar cell) भी एक फोटोडायोड है जिसका उपयोग प्रकाश से विद्युत ऊर्जा प्राप्त करने के लिये किया जाता है। फोटोडायोड का उपयोग प्रकाश संसूचक (फोटो-डिटेक्टर) की तरह भी किया जा सकता है।

फोटो डायोड के लिए प्रयोग किये जाने वाले पदार्थ
  • सिलिकन - वेव लेंथ रेंज (nm) १९० - ११००
  • जेर्मेनियम - वेव लेंथ रेंज (nm) ४०० - १७००
  • इन्डियम गालियम आर्सेनाइड - ८०० - २६००
  • लेड सल्फाइड - < १००० - ३५००

इन्हें भी देखें[संपादित करें]