प्रतिबाधा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यदि किसी सर्किट में resistance, inductance, or capistance तीनों लगे हो तो इनकी कूल resistance को impedance कहा जाता है। । इसे z से प्रदर्शित किया जाता है तथा ohm में मापा जाता है।

यहाँ V और I दोनों समिश्र राशियाँ है। यदि किसी परिपथ के दो बिन्दुओं के बीच प्रत्यावर्ती वोल्टेज Vm Sin (wt+θ) हो तो उस वोल्टेज को एक समिश्र संख्या Vm (Cos θ + j Sin θ) से निरूपित किया जा सकता है, जहाँ j, -१ के वर्गमूल को निरूपित करता है।

प्रतिबाधा को एसी के लिए प्रतिरोध के विस्तार के रूप में समझा जा सकता है। अर्थात् डीसी में जो भूमिका प्रतिरोध की है वही भूमिका एसी में प्रतिबाधा की है। प्रतिबाधा एक समिश्र संख्या है जिसका परिमाण (magnitude) और कला (phase) दोनों होते हैं।

उदाहरण
Imped1.png

माना R ओह्म का एक प्रतिरोध और L हेनरी का एक प्रेरकत्व श्रेणीक्रम में जुड़े हैं। तो इसकी प्रतिबाधा

Z = R + j w L ; जहाँ w कोणीय अवृत्ति है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]