प्रकाश चंद्र सेठी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

प्रकाश चंद्र सेठी मध्यप्रदेश काग्रेस के प्रमुख नेताओं मे एक माने जाते है।

प्रकाश चंद्र सेठी

पद बहाल
2 सितम्बर 1982 – 19 जुलाई 1984
पूर्वा धिकारी रामस्वामी वेंकटरमण
उत्तरा धिकारी पी॰ वी॰ नरसिम्हा राव

पद बहाल
29 जनवरी 1972 – 22 दिसम्बर 1975
पूर्वा धिकारी श्यामा चरण शुक्ल
उत्तरा धिकारी श्यामा चरण शुक्ल

जन्म 19 अक्टूबर 1920
झालरापाटन , झालावाड़, राजस्थान
मृत्यु 1996
राष्ट्रीयता भारतीय
राजनीतिक दल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस

सार्वजनिक एवं राजनैतिक जीवन का संक्षिप्त विकास क्रम[संपादित करें]

श्री प्रकाश चंद्र सेठी का मुख्यमंत्रीत्व काल निम्नलिखित है:- चतुर्थ विधान सभा में (1967-1972) दिनांक 29.01.1972 से 22.03.1972 तथा पंचम् विधान सभा मे 23.03.1972 से 23.12.1975 तक।

1. 1939 में उज्‍जैन के माधव महाविद्यालय के स्‍नेह सम्‍मेलन के एवं माधव क्‍लब के सचिव रहे। 2. सन् 1942 में स्‍वतंत्रता आन्‍दोलन में सक्रिय रूप से भाग लेने के लिये महाविद्यालयीन शिक्षा का बहिष्‍कार किया. 3. सन् 1942 में तथा सन् 1949 से 1952 तक मध्‍यभारत इंटक के उपाध्‍यक्ष पद का कार्यभार संभाला. 4. सन् 1951 से अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के सदस्‍य, सन् 1948-49 में इंटक से संबंधित टेक्‍सटाईल वर्कर्स एसोसिएशन के अध्‍यक्ष रहे. मध्‍यभारत कर्मचारी संघ के अध्‍यक्ष के रूप में कार्यरत रहे. 5. सन् 1951, 1954 तथा 1957 में उज्‍जैन जिला कांग्रेस के अध्‍यक्ष रहे. 6. सन् 1953 से 1957 तक मध्‍य भारत, प्रदेश कांग्रेस कार्यकारिणी के सदस्‍य रहे. मध्‍यभारत कला परिषद् के सदस्‍य रहे. 7. सन् 1954-1955 में मध्‍य भारत कांग्रेस के कोषाध्‍यक्ष. 8. सन् 1956 से 1959 तक मध्‍य भारत ग्राम तथा खादी मंडल तथा प्रादेशिक परिवहन समिति के सदस्‍य रहे. 9. सन् 1957 से 1959 तक उज्‍जैन जिला सहकारी बैंक के संचालक. 10. सन् 1953 बिहार में, सन् 1954 पेप्‍सू में तथा सन् 1959 केरल में अखिल भारतीय कांग्रेस समिति की ओर से चुनाव प्रचारक रहे. 11. अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के द्वारा सन् 1955-1956 में कर्नाटक, महाराष्‍ट्र, बम्‍बई और गुजरात के लिये क्षेत्रीय प्रतिनिधि नियुक्‍त हुए. 12. दिसम्‍बर 1966 में बिहार में अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के पर्यवेक्षक रहे.

केन्द्रीय मंत्री के रूप मे[संपादित करें]

फरवरी, 1967 में लोक सभा के लिये निर्वाचित. 9 जून, 1962 से मार्च, 1967 तक केन्‍द्रीय उप मंत्री. 13 मार्च, 1967 से राज्‍यमंत्री, 26 अप्रैल, 1968 से 23 फरवरी, 1969 तक इस्‍पात, खान और धातु मंत्रालय के स्‍वतंत्र प्रभारी मंत्री रहे तथा 14 फरवरी, 1969 को वित्‍त मंत्रालय में राजस्‍व तथा व्‍यय मंत्री रहे.

विदेश यात्रा[संपादित करें]

सन् 1958 में अफगानिस्‍तान, सन् 1960 में अमेरिका, कनाड़ा, इंग्‍लैण्‍ड, नार्वे, स्‍वीडन, डेनमार्क, जर्मनी, फ्रांस, स्विट्जरलेंड, मिस्‍त्र देश और सन् 1962 में चेकोस्‍लोवाकिया तथा ऑस्ट्रिया की यात्राऐं कीं. 

राज्यसभा का कार्यकाल[संपादित करें]

प्रथम बार 02/02/1961 से लेकर 02/04/1964 तक तथा दूसरी बार 03/04/1964 से लेकर 02/04/1970 तक तथा तीसरी बार 03/04/1976 से लेकर 02/04/1982 तक राज्यसभा सदस्य रहे।

                            सितम्‍बर, 1969 में बारबाडोस (वेस्‍टइंडीज) के राष्‍ट्र मंडलीय वित्‍त मंत्री सम्‍मेलन में भारत सरकार का प्रतिनिधित्‍व. अक्‍टूबर, 1969 में कोलम्‍बो योजना सम्‍मेलन के प्रतिनिधि मंडल का नेतृत्‍व किया. एशियाई विकास बैंक मनीला और अन्‍तर्राष्‍ट्रीय पुनर्निर्माण तथा विकास बैंक में भारत के गवर्नर मनोनीत हुए. 27 जून, 1970 को प्रतिरक्षा उत्‍पादन मंत्री बने. तदुपरांत पेट्रोलियम तथा रसायन राज्‍य मंत्री रहे. दिनांक 29 जनवरी, 1972 के आम चुनाव में विधान सभा के लिये निर्वाचित होकर पुन: सदन के नेता निर्वाचित हुए

सन्दर्भ[संपादित करें]

http://164.100.47.5/HindiNewMembers/alphabeticallist_all_terms.aspx

http://mpvidhansabha.nic.in/cm-pcsethi.htm

http://164.100.47.194/Loksabha/Members/lokprev.aspx