पोम्पेइ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

यह इटली का एक प्रमुख नगर है।

शोधकर्ताओं का मानना है कि पोम्पेइ नगर छठी य सातवी शताब्दी मे स्थापित हुआ था। चौथी शतब्दी मे वह रोम के प्रभुत्व के नीचे आया और ८० ई पू मे वह एक रोमन कॉलोनी बन गया। जब तक इस नगर का विनाश हो चुका था, १६० साल बाद, इसकी अबादी ११००० आकलन की गयी थी और इस नगर मे जटिल पानी की व्यवस्था, एक अखाडा, व्यायामशाला और एक बंदरगाह था। उस विस्फोट ने पोम्पेइ को नष्ट किया और उसके सारे निवासियों को राख के टन के नीचे दफा दिया। मौलिक रूप से विनाश का सबूत प्लिनी द यंगर के खथ से आया जिसने उस विस्फोट को दूर से देखा और अपने चाचा के मृत्यु को वर्णन करते हुए यह खथ लिखा।१५०० सालों के लिये पोम्पेइ नगर गुम हो गया था पर इसका पुनराविष्कार १५९९ मे हुआ। २५० से अधिक सालों के लिये पोम्पेइ एक पर्यटन स्थल रह है। आज पोम्पेइ नगर इटली का सबसे जाना माना पर्यटन स्थल है। हर साल यहाँ पे लगभग २,५ करोड आगंतुकों आते जाते रहते हैं। पोम्पेइ नगर के खंडहर पोम्पेइ के अधुनिक उपनगरीय शहर के पास स्थित हैं। सरनो नदी के मुंह के उत्तर जो लावा के बहने से जो उभाडना हुई है उस पर खडा है। पोम्पेइ के नीचे जो वस्तुओं दफन है वो लगभग २००० वर्शों के लिये अच्छी तरीके से संरक्षित है। हवा और नमी के कम होने से वस्तुएं कोइ क्षेय के बिना भूमिगत रहते हैं। पोम्पेइ दोनो प्रकृतिक और कृत्रिम ताकतों का विषय है जो तेजी से वृद्धी हुई गिरावट। अपक्षय, कटाव, रोशनी का अनावरण, जल क्षिती, खुदाई और पुनरनिर्माण के गरीब तरीके, पर्यटन, बर्बरता और चोरी चकारी आदी ने इस नगर की क्षिती की है। इस नगर के दो तिहाई की खोदना की है पर अवषेश तेज़ी से बिगडती जा रही है। संरक्षण की चिंता ने पुरातत्वविदों को लगातार परेशान किया है।पोम्पेइ मंउंट वेसुविस के ८ क।मि। दूर है। पोम्पेइ का अपोल्लो मंदिर दूस्री शतब्दी मे बनाया था जो नगर का सबसे जरूरी धार्मिक संरचना है।अब पोम्पेइ एक अधुनिक शहर बन गया है।