पेंट थिनर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

पेंट थिनर एक ऐसा विलायक है जिसका उपयोग तेल से निर्मित पेंट को पतला करने या पेंट के प्रयोग के बाद सफाई करने के लिए किया जाता है। व्यावसायिक रूप से, "पेंट थिनर" नामक विलायक सामान्यत: खनिज स्पिरिट होते हैं, इनका स्फुरांक (फ्लैश बिंदु) लगभग 40 °C (104°F) होता है, जो चारकोल स्टार्टर के कुछ लोकप्रिय ब्रांडों के समान है।

पेंट थिनर के रूप में उपयोग किए जाने वाले प्रचलित विलायकों में शामिल हैं:

पेंट थिनर के रूप में उपयोग किए जाने वाले कम प्रचलित विलायकों में शामिल हैं: [1]

थिनर युक्त पेंट या इसके सफाई के दौरान पेंट से निर्मित वाष्प कणों के संपर्क में आना हानिकारक हो सकता है। अमेरिकन कांफ्रेंस ऑफ़ गवर्नमेंटल इंडस्ट्रियल हाइजेनिस्ट ने इनमें से अधिकांश यौगिकों के लिए देहली सीमा के मान (TLV) निर्धारित किए हैं। टीएलवी को वायु में उस अधिकतम सांद्रता के रूप में परिभाषित किया गया है, जिसे एक सामान्य व्यक्ति(अर्थात, बच्चों, गर्भवती महिलाओं आदि को छोड़कर) एक सप्ताह के 40 कार्यशील घंटों (अमेरिका की कार्यशील परिस्थितियों में) के दौरान लंबे समय तक अस्वस्थ हुए बिना अपने प्रतिदिन के जीवन में सांस के साथ ग्रहण कर सकता है। विकासशील देशों में श्रमिकों को अक्सर इन रसायनों के संपर्क में आने के कारण निरंतर स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

संदर्भ[संपादित करें]