पारो जिला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
भूटान में पारो जिला
पारो नगर में किला (सितंबर 2006)
पारो हवाई अड्डा
काली टोपी का नृत्य

पारो जिला भूटान देश के २० जिलों में एक जिला है।[1] यह जिला भूटान की ऐतिहासिक घाटी में स्थित है। इस जिले की सभ्यता तिब्बत से प्रभावित है। इस जिले की उत्तरी सीमा तिब्बत से मिलती है। प्रारम्भ में इस घाटी में आकर बसने वाले तिब्बत मूल के लोग ही हैं। इस जिले की मुख्या भाषा द्ज़ोंग्ख (भूटानी) है और यही भाषा भूटान की राष्ट्रीय भाषा है।

पारो विमानक्षेत्र[संपादित करें]

पारो में भूटान का अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है।

पारो जिला की सीमायें[संपादित करें]

जिले के पश्चिम में हा जिला, उत्तर में तिब्बत, पूर्व में थिम्फू जिला और दक्षिण में चुख जिला स्थित है।

प्रशासनिक विभाग[संपादित करें]

पारो जिले में निम्न १० ब्लॉक (Gewogs)हैं।

  • डोगा
  • डोपशरी
  • डॉटेंग
  • हंगरेल
  • लमगोंग
  • लुंगनई
  • नाजा
  • शाप
  • तसेंटो
  • वांगचेंग

सांस्कृतिक स्थल[संपादित करें]

पारो नगर एक ऐसा स्थान है जहां पर्यटक सदैव आते रहते हैं। यहां की सांस्कृतिक छवि पर्यटकों को आकर्षित करती है।

  • भूटान का पारो नगर ही एक ऐसा नगर है जहां भूटानी लोगों का रहन सहन का स्तर उच्च है क्योंकि यहां पर्यटको के आवागमन के कारण डॉलर में लोगों की कमाई होती है।
  • पारो जिले का मुख्य बाजार है।
  • ताक्तशांग भूटान के लोगों का प्रसिद्द मठ है। इसे ८वीं सदी में गुरु पद्मसम्भव ने एक ध्यान गुफा के रूप में स्थापित किया था।
  • भूटान का राष्ट्रीय संग्रहालय होने के कारण पर्यटक यहां भूटान की संस्कृति का अध्ययन करने आते हैं।
  • लिटिल बुद्धा मूवी में पारो किले के आस पास के दृश्य को फिल्माया गया था।

अर्थव्यवस्था[संपादित करें]

भूटान की राष्ट्रीय वायु लाइन्स ड्रक एयर का यहां मुख्यालय है।

सन्दर्भ[संपादित करें]