परितारिका

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
परितारिका
Human Iris JD052007.jpg
The iris in humans is the colored (typically blue, green, or brown) area, with the pupil (the circular black spot) in its center, and surrounded by the white sclera.
Schematic diagram of the human eye en.svg
Schematic diagram of the human eye. (Iris labeled at upper right)
विवरण
लातिनी iris
अग्रगामी Mesoderm and neural ectoderm
किसका भाग Front of eye
तंत्र Visual system
long posterior ciliary arteries
long ciliary nerves, short ciliary nerves
अभिज्ञापक
टी ए A15.2.03.020
एफ़ एम ए 58235
शरीररचना परिभाषिकी

परितारिका (iris/आइरिस ; बहुवचन : irides या irises)) मानव तथा अधिकांश स्तनधारियों एवं पक्षियों की आँख के भीतर की एक पतली वृत्ताकार संरचना है जिसका काम आँख के तारे (pupil) के व्यास को नियंत्रित करना होता है। इस प्रकार आइरिस, रेटिना पर पहुँचने वाले प्रकाश की मात्रा को नियंत्रित करती है। आँख का रंग परितारिका के रंग से ही परिभाषित होता है।


मानव आँख:- मानव आँख मूल रुप से "उतल लेंस" से बनी होती है, यह लेंस रेटिना पर किसी वस्तु को "वास्तविक या उल्टा" बनाता है। रेटिना में दो प्रकार की द्रष्टि कोशिकाएं होती है,उन्हे छड़ और शंकु उनके अजीब आकार के कारण कहा जाता है। छड़ प्रकाश तीव्रता का निर्णय करती है, शंकू प्रकाश के रंगो को भेदते है। स्पष्ट द्रष्टि की न्यूनतम दूरी 25 सेंटी मिटर होती है, रेटिना पर छवी बनने के लिये 1 से 16 सैकण्ड तक का समय लगता है।

(1).कॉर्निया:- पारदर्शी उभार जिसके माध्यम से प्रकाश प्रवेश करता है।

(2).आइरिस:- यह पुतली के आकार को नियंत्रित करता है, तथा आँखों का रंग आइरिस का रंग हौता है।

(3).पुतली:- आँख में प्रवेश करनी वाली प्रकाश की मात्रा को नियंत्रित करता है,

(4).आँख का लेंस:- रेटिना पर वस्तु की आक्रति वास्तविक और उल्टे बनाता है।

(5).रेटिना:- झिल्ली प्रकाश-संवेदनशील कोशिकाएं रखती है,जो विद्धुत संकेतो को उत्पन्न करते है।

(6).प्रकाशिय तंत्रिका:- कार्य करने के लिये मस्तिष्क को सिग्नल स्थानान्तरित करता है।

(7).समंजन क्षमता:- पास और दूर की वस्तुओं पर ध्यान केन्द्रित करने की अपनी फोकस लम्बाई को समायोजित करने के लिये नेत्र लेंस की क्षमता।