नोटर का प्रमेय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

नोटर के प्रमेय (Noether's theorem या Noether's first theorem) के अनुसार किसी भी भौतिक तंत्र के क्रिया की प्रत्येक अवकलीय सममिति (differentiable symmetry) के संगत एक संरक्षण नियम होता है। इस प्रमेय को १९१५ में महान गणितज्ञ एमी नोटर ने सिद्ध किया था और १९१८ में प्रकाशित किया था। इस प्रमेय की एक विशेष स्थिति (case) को को १९०९ में ई कोसरात और एफ कोसरात ने सिद्ध किया था।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]