निर्धारणवाद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

निर्धारणवाद या नियतत्ववाद ( Determinism) वह दार्शनिक विचार है जिसका मानना है कि मानव द्वारा किये जाने वाले कारों सहित, प्रत्येक घटना के लिये ऐसी स्थितियाँ मौजूद होतीं हैं, जो उस घटना के के अतिरिक्त कोई दूसरी घटना उत्पन्न ही नहीं कर सकतीं थीं।