सामग्री पर जाएँ

नाटो ध्वन्यात्मक वर्णमाला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से

नाटो ध्वन्यात्मक वर्णमाला जिसे रेडियोटेलीफोनी वर्तनी वर्णमाला के नाम से भी जाना जाता है। यह कोडीकृत भाषा है। कोड निर्मिति के लिए अंतर्राष्ट्रीय एजेंसियों की एक शृंखला ने 26 कोड शब्दों को रोमन वर्णमाला के अक्षरों के लिए एक्रोफोनिक रूप से निर्दिष्ट किया। सन् 1956 में नाटो ने अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (आईसीएओ) द्वारा उपयोग किए जाने वाले कूट शब्दों के तत्कालीन समूह को संशोधित किया। जब इसे उस वर्ष आईसीएओ द्वारा और कुछ वर्षों बाद अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू) द्वारा स्वीकार कर लिया गया तब यह संशोधन अंतर्राष्ट्रीय मानक बन गया।[1]

26 कूट शब्द इस प्रकार हैं (आईसीएओ वर्तनी): अल्फ़ा (ए), ब्रावो (बी), चार्ली (सी), डेल्टा (डी), ईको (ई), फॉक्सट्रॉट (एफ़), गोल्फ (जी), होटल (एच), भारत (आई), जूलियट (जे), किलो (के), लीमा (एल), माइक (एम), नवंबर (एन), ऑस्कर (ओ), पापा (पी), क्यूबेक (क्यू), रोमियो (आर), सिएरा (एस), टैंगो (टी), यूनिफॉर्म (यू), विक्टर (वी), व्हिस्की (डब्ल्यू), एक्स-रे (एक्स), यांकी (वाई), ज़ुलु (ज़ेड)। इसके अंतर्गत संख्याएँ अंग्रेज़ी अंकों के रूप में बोली जाती हैं।[2]

सन् 1956 से इन कूट शब्दों को स्थायित्व मिला।

अंतर्राष्ट्रीय स्वीकृति

[संपादित करें]

आईसीएओ द्वारा कूट शब्द विकसित किए जाने के तुरंत बाद इन्हें अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू), अंतरराष्ट्रीय समुद्री संगठन (आईएमओ), संघीय मानक 1037सी के रूप में संयुक्त राज्य अमेरिका की संघीय सरकार सहित अन्य राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय संगठनों द्वारा स्वीकार कर लिया गया। सभी संस्थाओं द्वारा समान वर्णानुक्रम कूट शब्दों का उपयोग किया जाता है किंतु प्रत्येक संस्था संख्यात्मक कूट शब्द के दो अलग-अलग समूहों में से एक समूह को चुनती है।

इन्हें भी देखें

[संपादित करें]
  1. "द नाटो फ़ॉनेटिक अल्फ़ाबेट – अल्फ़ा, ब्रावो, चार्ली..." नाटो.
  2. "अल्फ़ाबेट - रेडियोटेलिफ़ोनी". इंटरनेशनल सिविल एविएशन ऑर्गेनाईज़ेशन. n.d. मूल से 20 जून 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जुलाई 2018.