नागदा जिला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मध्यप्रदेश सरकार राज्य में एक नया जिला बनाने जा रही है। नागदा मध्यप्रदेश का 53वां जिला बनेगा। इसके लिए कार्रवाई शुरू हो गई है। अभी मध्यप्रदेश में 52 जिले हैं।

मध्यप्रदेश के 52 जिलों को 10 संभागों में बांटा गया है लेकिन 2011 की जनगणना में मध्यप्रदेश में केवल 50 जिले थे, जिनमें जनगणना का कार्य किया गया था। मध्यप्रदेश में वर्तमान में तहसीलों की कुल संख्या 341 है।

वर्तमान में नागदा भारत के राज्य मध्य प्रदेश के उज्जैन जिला के अतर्गत स्थित है। यह शहर चम्बल नदी के तट पर बसा है। 23° 27' 0" उत्तर , 75° 25' 0"पूरब , यह नागदा जंक्शन की भूगोलिक स्थिति है। ०७३६६ इसके दूरभाष कोड है। 456335 नागदा जंक्शन के पोस्ट पिन कोड है।

यहाँ के मुख्य मार्ग है। --- महात्मा गाँधी मार्ग.- जो की रेलवे स्टेशन से शुरू होकर पुलिस थाना नगदा तक जाता है। और यह ही नागदा का मुख्य बाजार भी है। ----- जवाहर मार्ग- यह भी रेलवे स्टेशन से शुरू हो कर बस स्टैंड तक जता है। और नवीन नागदा का यह मार्ग मुख्या रूप से विस्तारी-करण पर है। इस मार्ग से आपको नागदा की प्रगति का अहसास होता है। ---- बाईपास रोड - यह मार्ग नागदा के समीप से गुजरने वाला हैवी ट्रैफिक मार्ग है। इस मार्ग के बन जाने से इंदौर और राजस्थान की तरफ सफ़र करना बहुत सुलभ हो गया है। और नागदा में नयी आर्थिक सम्भावना भी बढ़ गयी है। आने वाले दिनों में यह मार्ग भी नागदा के विस्तारीकन में एक महत्वपूर्ण भूमिका में होगा। ----

यहाँ पर आदित्य बिरला ग्रुप की इंडस्ट्री ग्रेसिम इंडस्ट्री है जिस में मुख्य रूप से ग्रासिम इंडस्ट्रीज लिमिटेड विस्कोस स्टेपल फाइबर का उत्पाद किया जाता है। यह भारत की सबसे बड़ी निजी क्षेत्र की कंपनी में शुमार है। इसका कंसोलिडेटेड शुद्ध राजस्व २९३ अरब का है। यहाँ पर २०११ में किया गए सर्वे के अनुसार तकरीबन ६५६८ व्यक्ति काम करते हैं है। कुमार मंगलम बिरला इसके चेयरमैन है। बिरलाग्राम में स्थित बिरला मंदिर अपनी नकाशी और खूबसूरती का बेजोड़ नमूना है, इसी मंदिर से लगती हुई हवाई पट्टी है जो की बिरला ग्रुप ऑफ़ इंडस्ट्रीज की निजी है।

रेलवे स्टेशन - यह स्टेशन दिल्ली और मुंबई के मध्य पड़ता है। इंदौर या भोपाल से दिल्ली जाने वालो के लिए यह जंक्शन का काम करता है। यहाँ से उज्जैन ५५ और रतलाम ४५ किलो मीटर की दूरी पर है।