दोहरा तारा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

खगोलशास्त्र में दोहरा तारा दो तारों का ऐसा जोड़ा होता है जो पृथ्वी से दूरबीन के ज़रिये देखे जाने पर एक-दुसरे के समीप नज़र आते हैं। ऐसा दो कारणों से हो सकता है -

  • ये दो तारे वास्तव में ही एक दुसरे से सम्बन्ध रखते हैं और एक द्वितारा हैं जिसमें दोनों एक दुसरे से गुरुत्वाकर्षण के प्रभाव से इकठ्ठे हैं
  • ये सिर्फ पृथ्वी से देखने में ही पास लगते हैं (जिस तरह से दूर एक-के-पीछे-एक दो पहाड़ एक-दुसरे के पास लग सकते हैं, जबकि एक के पास जाने पर पता लगता है के उनमें पचास मील का फ़ासला भी हो सकता है)

अन्य भाषाओँ में[संपादित करें]

अंग्रेज़ी में "दोहरे तारे" को "डबल स्टार" (double star) और "द्वितारे" को "बाइनरी स्टार" (binary star) कहा जाता है। अरबी में "दोहरे तारे" को "नजूम मज़दूज" (نجم مزدوج‎) कहा जाता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]