दूध का कर्ज़

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
दूध का कर्ज़
दूध का कर्ज़.jpg
दूध का कर्ज़ का पोस्टर
निर्देशक अशोक गायकवाड़
निर्माता सलीम अख्तर
लेखक संतोष सरोज
अभिनेता जैकी श्रॉफ,
नीलम,
प्रेम चोपड़ा,
अरुणा ईरानी,
अमरीश पुरी
संगीतकार अनु मलिक
प्रदर्शन तिथि(याँ) 31 अगस्त, 1990
देश भारत
भाषा हिन्दी

दूध का कर्ज़ 1990 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसे अशोक गायकवाड़ द्वारा निर्देशित और सलीम अख्तर द्वारा निर्मित किया गया। इसे हिन्दी के साथ मराठी में भी जारी किया गया (मराठी में दुधाचे उपकार)। इसमें जैकी श्रॉफ और नीलम मुख्य भूमिकाओं में हैं।[1] इसके गीत अपने जमाने में लोकप्रिय रहे हैं।

संक्षेप[संपादित करें]

अपने नवजात बेटे सूरज के साथ सपेरन पार्वती (अरुणा ईरानी) असहाय रूप से देखती है कि उसका पति गंगू को गलत तरीके से चोरी का आरोप लगाया जाता है और फिर रघुवीर सिंह (अमरीश पुरी), भैरों सिंह (सदाशिव अमरापुरकर) और संपथ (प्रेम चोपड़ा) द्वारा पीट-पीट कर मार दिया जाता है। वह उसके शरीर का अंतिम संस्कार करती है, एक साँप और सूरज को पालती है और गंगू की मौत का बदला लेने के लिए कसम खाती है। उसकी देखभाल धर्मा लोहार (गोगा कपूर) ने की जो सूरज को पालने में उसकी सहायता करता है। उस साँप को पार्वती और गंगू ने अपने बेटे के रूप में माना। पार्वती साँप को अपना दूध देती है और उससे जाने को कहती है क्योंकि वो उसका भरण-पोषण नहीं कर पाएगी। सालों बाद सूरज बड़ा हो गया है। पार्वती गंगू की मौत का बदला लेने और धर्मा की बेटी कजरी से उसका विवाह करने के लिए तैयार है। उसकी योजना बिखर जाती है जब उसे पता चलता है कि सूरज रघुवीर की बेटी रेशमा (नीलम) के प्यार में पड़ गया है और वह अपने भावी ससुराल के खिलाफ प्रतिशोध नहीं करने का फैसला कर सकता है। सालों बाद साँप पार्वती के जीवन में वापस आता है और सूरज के साथ गंगू के हत्यारों का बदला लेता है।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

सभी गीत आनंद बख्शी द्वारा लिखित; सारा संगीत अनु मलिक द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."तुम्हें दिल से कैसे जुदा हम करेंगे"मुहम्मद अज़ीज़, अनुराधा पौडवाल7:13
2."शुरू हो रही है प्रेम कहानी"मुहम्मद अज़ीज़, अनुराधा पौडवाल9:37
3."बीन बजाता जा सपेरे"अनुराधा पौडवाल8:58
4."बीन बजाऊँ तुझे बुलाऊँ"मुहम्मद अज़ीज़9:35
5."रस्ता तो मिल गया है"शब्बीर कुमार7:25
6."मेरे मुन्ने भूल ना जाना"मुहम्मद अज़ीज़, अनुराधा पौडवाल10:40

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Video: इस औरत ने नाग को पिलाया था दूध, मरते दम तक चुकाया कर्ज..." एनडीटीवी इंडिया. 15 अगस्त 2018. अभिगमन तिथि 28 अक्टूबर 2018.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]