दु:ख

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
एक दु:खी महिला का चित्र

दु:ख मनुष्य में पाए जाने वाली एक भावना है। प्रसन्नता के विपरीत यह एक नकारात्मक और विलोम भावना है। इस कई कारण हो सकते हैं:

  • किसी आंतरिक तकलीफ़ से यह भावना का उत्पन्न होना, जैसे कि रोग से तकलीफ़।
  • किसी प्रकार के नुक़सान के कारण यह भावना का उत्पन्न होना, जैसे कि किसी बहुमूल्य वस्तु का चुराया जाना।
  • किसी परिजन के कारण ऐसी भावना का उत्पन्न होना, जैसे कि वृद्ध पिता का देहान्त।
  • किसी लक्ष्य को प्राप्त करने में नाकाम होना, जैसे कि परीक्षा में असफल होना।

दु:ख विभिन्न प्रकार से प्रकट हो सकता है। इसमें रोना, उदास चहरे का दिखाई देना, चेहरे का लाल-लाल होना, चुप्पी साधना, दुनिया से अलग रहना हो सकते हैं। कुछ लोग दु:खी तो होते हैं पर अपनी भावना को छिपा लेते हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]