तोल्काप्पियम्

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

तोल्कापपियम् (तमिल : தொல்காப்பியம்), तमिल व्याकरण का प्राचीन ग्रन्थ है। यह नूरपा (छोटे सूत्र) के रूप में रचित है। इसके तीन भाग हैं- एझुत्ताधिकारम्, सोल्लाधिकाराम् और पोरुलाधिकारम्। प्रत्येक भाग में नौ-नौ अध्याय हैं। इसका रचनाकाल ठीक-ठीक पता नहीं है किन्तु भाषा-सम्बन्धी एवं अन्य प्रमाणों के आधार पर अलग-अलग लोगों ने इसका रचनाकाल तीसरी शताब्दी ईसापूर्व से लेकर १०वीं ई. तक बताया है। कुछ आधुनिक विद्वानों का मत है कि यह एक बार में नहीं लिखा गया बल्कि लम्बी समयावधि में टुकड़ों में लिखा गया है। इसके रचयिता कौन हैं, इसके बारे में भी ठीक-ठीक कुछ भी नहीं कहा जा सकता।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]