तालवाद्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
नाइजीरिया में तालवाद्य बजाते योरुबा संगीतकार: एक के हाथ में सकारा ढोल और बाटा ढोल हैं और अन्य दो एक-एक दुनदुन के साथ हैं

तालवाद्य (percussion instrument) संगीत में ऐसा वाद्य यन्त्र जिस से ध्वनी उसपर हाथ या अन्य किसी उपकरण से प्रहार द्बारा या रगड़कर उत्पन्न हो। इसके उदाहरण तबला, डमरु, झांझ और मृदंग हैं। झांझ जैसे तालवाद्यों में दो एक-समान भाग होते हैं जिन्हें आपस में टकराकर संगीत बनाया जाता है। इतिहासकार मानते हैं कि मानव स्वर के बाद तालवाद्य ही सबसे पहले आविष्कृत संगीत वाद्य थे।[1][2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. The Oxford Companion to Music, 10th edition, p.775, ISBN 0-19-866212-2
  2. James Blades, Percussion Instruments and Their History, (1970).