तर्कशास्त्र का इतिहास

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अनेकों संस्कृतियों ने तर्क करने की सूक्ष्मतिसूक्ष्म प्रणाली अपनायी तथा मानव के सम्पूर्ण चिन्तन में तर्क उपस्थित रहा है। किन्तु तर्क करने की स्पष्ट और विधिवत प्रणाली मुख्यत: और मूलत: भारत, चीन और यूनान में ही विकसित हुई। इनमें से केवल भारतीय और यूनानी तर्क परिपाटी ही आधुनिक काल तक बिना व्यवधान के विकास करती रही।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]