डिजिटल सिग्नल प्रोसेसर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

डिजिटल सिग्नल प्रोसेसर (Digital Signal Processor या DSP) एक विशेश माइक्रोप्रोसेसर है जिसे डिजिटल सिग्नल प्रोसेसिंग के लिये विशेष रूप से डिजाइन किया गया होता है। वास्तविक-समय (Real-Time) में डिजिटल सिग्नल प्रोसेसिंग करने के लिये कुछ विशेष इन्स्ट्र्क्शन्स को बहुत तेज गति से कार्यान्वित करना आवश्यक होता है।

डिजिटल सिग्नल प्रोसेसरों की विशेषताएं[संपादित करें]

  • वास्तविक-समय में प्रोसेसिंग करने के हिसाब से डिजाइन किये जाते हैं
  • स्ट्रीमिंग डेटा (पैकेटों के रूप में आने वाला धाराप्रवाह देटा) के लिये सर्वोत्तम डिजाइन
  • प्रोग्राम स्मृति एवं डेटा स्मृति एक न होकर अलग-अलग होती हैं। इसे हार्वर्ड आर्किटेक्चर कहते हैं।
  • गुणोत्तर योग (मल्टिप्लाय ऐण्ड एकुमुलेट, MAC) इन्स्ट्रक्शन को तीव्र से तीव्र गति से कार्यान्वित करने की क्षमता होती है। यह इन्स्ट्रक्शन डिजिटल सिग्नल प्रोसेसिंग में सर्वाधिक उपयोग में आती है।
  • एकल-इन्स्ट्रक्शन बहु-डेटा (Single Instruction, Multiple Data (SIMD)) के लिये विशेष इन्स्ट्रक्शन की व्यवस्था होती है।
  • बहु-कार्य (मल्टी-टास्किंग) के लिये अलग से कोई हार्डवेयर नहीं होता बल्कि इसे इन्टरप्ट और साफ्टवेयर की सहायता से क्रियान्वित किया जाता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]