टोन नदी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

निर्देशांक: 35°59′01″N 139°53′26″E / 35.98361°N 139.89056°E / 35.98361; 139.89056

टोन नदी (利根川)
नदी
Tone River 2015.jpg
नरीता और कवाची में टोन नदी (2015) (2015)
उपनाम: बांदो तारो
देश जापान
प्रांत निगाता, चिबा
उपनदियाँ
 - बाएँ अगात्सुमा, वातारेज
 - दाएँ किनू, ओमोइ, कोकाई
शहर निमाता, मैबाशि, चोशी
स्रोत ओमिनाकामी पर्वत
 - ऊँचाई 1,831 मी. (6,007 फीट)
मुहाना प्रशांत महासागर
 - स्थान चिबा प्रांत
 - ऊँचाई मी. (0 फीट)
लंबाई 322 कि.मी. (200 मील)
जलसम्भर 16,840 कि.मी.² (6,502 वर्ग मील)
प्रवाह for चोशी, चिबा प्रांत
 - औसत 256 मी.³/से. (9,041 घन फीट/से.)
टोन नदी मार्ग
टोन नदी मार्ग

टोन नदी (利根川 Tone River) जापान के कांटो क्षेत्र की एक नदी हैं। यह 322 किलोमीटर (200 मील) लंबी (जापान में शिनानो नदी के बाद दूसरी सबसे लंबी) हैं, और इसमें 16,840 वर्ग किलोमीटर (6,500 वर्ग मील) (जापान में सबसे बड़ा) का जल निकासी क्षेत्र हैं। इसे बांदो तारो (坂東 太郎) उपनाम दिया गया है; "बांदो", कांटो क्षेत्र का एक अप्रचलित उपनाम है, और "तारो" यहाँ अपने बड़े बेटे के दिये जाने वाला एक लोकप्रिय नाम हैं।[1] यह जापान की "तीन सबसे महानतम नदियों" में से एक माना जाता हैं, अन्य में सिकोकु में योशिनो और क्यूशू में चिकूगो सम्मलित हैं।

भूगोल[संपादित करें]

टोन नदी का स्रोत ईचिगो पर्वतमाला पर ओमिनाकामी पर्वत (大水 上山) (1,831 मीटर (6,007 फीट)) पर हैं, जो जूनिनेत्सु कोजन राष्ट्रीय उद्यान में गुनमा और निगाता प्रांत के बीच की सीमा पर स्थित हैं।[1] टोन, सहायक नदियों का जल एकत्रित कर केप इनुबो, चोशी, चिबा प्रान्त में प्रशांत महासागर में जा मिलता हैं। [2]

सहायक नदियाँ[संपादित करें]

टोन नदी के प्रमुख सहायक नदियों में अग्माशुमा, वातारेज, किनु, ओमोइ और कोकई नदी शामिल हैं। नदी से दूर ईड़ो नदी की शाखाएं टोक्यो खाड़ी में समाती हैं।

फुकुशिमा दाइची परमाणु आपदा[संपादित करें]

फुकुशिमा दाइची परमाणु आपदा के परिणामस्वरूप, अप्रैल 2012 में टोन नदी से पकड़ी गई चांदी क्रूसियन कार्प मछली में रेडियोधर्मी सीज़ियम सांद्रता के 110 बेक्वेरल प्रति किलोग्राम पाए गए। नदी फुकुशिमा दाईची प्लांट से 180 किलोमीटर (110 मील) पर स्थित हैं। छह मत्स्य सहकारी समितियों और नदी के किनारे 10 शहरों को टोन से पकड़े गए मछलियों के सभी शिपमेंट को रोकने के लिए कहा गया था।[3]

उपयोगिता[संपादित करें]

टोन नदी राजधानी इडो बाद में टोक्यो, और प्रशांत महासागर के बीच कि एक अनिवार्य अंतर्देशीय जल संपर्क था। इसके द्वारा न केवल चोशी से सोया सॉस जैसे स्थानीय उत्पादों को, बल्कि टोहोकु क्षेत्र के उत्पादों को भी लाया-लेजाया जाता था, ताकि समय की बचत हो सके और खुले समुद्र के जोखिम से बच सकें। 19वीं शताब्दी में रेलवे के आगमन के साथ टोन नदी पर आवागमन में तेजी से गिरावट आई। आज नदी में कई बांध हैं, जो महानगरीय टोक्यो के 30 मिलियन से अधिक निवासियों और बड़े पैमाने पर औद्योगिक क्षेत्रों जैसे कियो औद्योगिक क्षेत्र के लिए पानी की आपूर्ति करते हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Tonegawa no shōkai: Nihon-ichi no biggu na kawa desu (gaiyō): Tonegawa no aramashi", Ministry of Land, Infrastructure, Transport and Tourism, Japan.
  2. "Tone River". Encyclopædia Britannica। (2012)। Chicago, Ill.: Encyclopædia Britannica। अभिगमन तिथि: 2012-12-19
  3. JAIF (26 April 2012)Earthquake Report 412: Cesium contaminated fish found in Tone river