ज्ञानेन्द्र पाण्डे

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

ज्ञानेन्द्र पाण्डे एक इतिहासकार और सबाल्टर्न अध्ययन के संस्थापक सदस्यों में से एक है। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से डिग्री प्राप्त की है। वर्श २००५ से एमोरी विश्वविद्यालय में प्राध्यापक के पद पर है। इसके पहले रोड्स छात्रवृत्ति को हासिल कर चुके है, और दो ऑक्सफोर्ड कॉलेजों, वोल्फसन और लिंकन (१९७४-७८), के रिसर्च फैलो भी रह चुके है। लीड्स विश्वविद्यालय और हैदराबाद विश्वविद्यालय में कुछ समय तक लेक्चरर रहने के बाद, १९९० में कलकत्ता के सेंटर फॉर स्टडीज़ इन सोशल साइंसेज़ में अध्येतावृत्ति प्रारम्भ की। १९८५ में इलाहाबाद विश्वविद्यालय के एक प्राध्यापक बने और इसी समान पद को १९८६-९८ के बीच दिल्ली विश्वविद्यालय में निभाया। एमोरी विश्वविद्यालय में नियुक्त होने से पहले उनकी आखिरी पदवी जॉन्स हॉपकिंस विश्वविद्यालय में थी। यहाँ ये नृविज्ञान और इतिहास के प्रोफेसर होने के साथ-साथ नृविज्ञान विभाग के अध्यक्ष भी थे।[1][2]

रचनाये[संपादित करें]

  • पाण्डे, ज्ञानेन्द्र (1992). द कंस्ट्रक्शन ऑफ कम्युनलिज़म इन कोलोनियल नार्थ इंडिया. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस. Oxford University Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0195630106.. Reissued in 2006, ISBN 0195683641; and in 2012, ISBN 0198077300.
  • पाण्डे, ज्ञानेन्द्र (1988). "Congress and the Nation, 1917-1947". प्रकाशित Sisson, Richard. Congress and Indian Nationalism: The Pre-Independence Phase. University of California Press. पपृ॰ 121–134. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-520-06041-8. पाठ "John Richard Sisson " की उपेक्षा की गयी (मदद); पाठ "Stanley Wolpert " की उपेक्षा की गयी (मदद)

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "ज्ञानेन्द्र पाण्डे". Emory University. अभिगमन तिथि १० अप्रैल २०१५.
  2. Pandey, Gyanendra. "Curriculkum Vitae : ज्ञानेन्द्र पाण्डे" (PDF). अभिगमन तिथि १० अप्रैल २०१५.