जा़न-मारी लैह्न

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ड्रेस्डेन तकनीकी विश्वविध्यालय मे २००८ मे अपने व्याख्यान के बाद जा़न-मारी लैह्न
विशाल अणुकणिका संयोजन का एक उदाहरण। वृत्ताकार, सर्पिल आगर का संयोजन जा़न-मारी लैह्न और साथियों द्वारा प्रतिवेदित (Angew. Chem., Int. Ed. Engl. 1996, 35, 1838-1840.)
foldamer का आणुविक स्व-संयोजन, जा़न-मारी लैह्न और साथियों द्वारा प्रतिवेदित (Helv. Chim. Acta., 2003, 86, 1598-1624.)

जा़न-मारी लैह्न (३० सितम्बर, १९३९ को जन्मे) फ्रांसीसी रसायन विज्ञानी हैं। उन्हे डोनाल्ड क्रैम और चार्ल्स पेडेर्सन के साथ १९८७ में रसायन पर उनके कृटैन्ड के संश्लेषण के लिये नोबेल पुरस्कार पुरस्कार मिला। वे विशाल अणुकणिका रसायन शास्त्र के क्षेत्र में अग्रगामी वैज्ञानिक हैं; इस क्षेत्र में काम करते हुए कई उपयोगी मिश्रणों का अविष्कार किया। उन्होंने तकरीबन ८०० लेख रसायन विज्ञान पर लिखें हैं।