जसविंदर ब्रार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
जसविंदर ब्रार
Folk queen jaswinder brar.jpg
पृष्ठभूमि की जानकारी
जन्मनामजसविंदर ब्रार
जन्म8 सितंबर 1973
शैलियांभांगड़ा, लोक, पोप, धार्मिक
गायिका
सक्रिय वर्ष1990–वर्तमान

जसविंदर ब्रार भारत की एक लोक गायिका हैं जो पंजाबी भाषा में गाती हैं। वह पंजाबी लोक और भांगड़ा गाती हैं और 'लोक रानी' के रूप में जानी जाती हैं। वह अपने स्टेज शो के लिए जानी जाती हैं और उन्हें अखियाँ दी रानी कहा जाता है। विशेष रूप से अपने लोक कथाओं के लिए जानी जाती हैं। उन्होंने 1990 में "कीमती चीज़" नाम के एल्बम से अपने करियर की शुरुआत की।

जीवन[संपादित करें]

जसविंदर ब्रार के शुरुआती जीवन की बात करें तो उनका जन्म 8 सितंबर, 1973 को सिरसा हरियाणा में माता नरिंदर कौर और पिता बलदेव सिंह के घर हुआ था। जसविंदर ब्रार को बचपन में गाने का शौक था, इसलिए उनके परिवार ने उनका समर्थन किया। उनके परिवार की बात करें तो उनकी शादी 2000 में रणजीत सिंह सिद्धू से हुई थी। शादी के बाद उनकी एक बेटी थी जिसका नाम जशनप्रीत कौर सिद्धू था। जसविंदर ब्रार के अनुसार, उनका गायन करियर एक बैठक नहीं था क्योंकि गायन को उस समय बहुत बुरा माना जाता था, जब उन्होंने गाना शुरू किया था। इस कारण उनके कुछ करीबी दोस्तों ने उनका विरोध किया। इसके बावजूद उन्होंने अपना गायन करियर जारी रखा।

जसविंदर ब्रार के अनुसार, वह एक बार एक गायक के साथ अखाड़े में गई, इस दौरान उन्होंने कुलदीप माणक के गाने गाए। उन्हें फिर से मंच पर वापस जाना पड़ा। उसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

जसविंदर ब्रार ने 1990 में पंजाबी म्यूजिक इंडस्ट्री में कदम रखा। उनका पहला कैसेट एक कीमती वस्तु थी, फिर उनका कैसेट एक खुला अखाड़ा बन गया, रंगा जोगी। ये कैसेट सुपर हिट थे। जसविंदर ब्रार ने और अधिक लाइव एरेनास बनाया है। इसीलिए उन्हें अखाड़े की रानी कहा जाता है।

जसविंदर ब्रार को एक रानी के रूप में भी जाना जाता है। इसके अलावा, वह लोक तथ्यों के लिए जाने जाते हैं। जसविंदर बराड़ को उनके गायन के लिए कई पुरस्कार मिले हैं।

जसविंदर ब्रार को शिरोमणि लोक गायक पुरस्कार मिला है। उन्हें प्रो मोहन सिंह मेले में संगीत सम्राट पुरस्कार भी मिला है। जसविंदर ब्रार ने हमेशा ऐसे सांस्कृतिक गीत गाए हैं जो जीवन के सभी क्षेत्रों के लोगों का मार्गदर्शन करते हैं।[1]

पुरस्कार और सम्मान[संपादित करें]

उन्हें नवंबर में "शिरोमणि पंजाबी लोक गायिकी पुरस्कार 2010" से सम्मानित किया गया। वह यह पुरस्कार पाने वाली 12 वीं हैं। उन्होंने प्रो मोहन सिंह मेले में "संगीत सम्राट" पुरस्कार सहित अन्य पुरस्कार प्राप्त किए। उन्हें "सर्वश्रेष्ठ ईट ओरिएंटेड वोकलिस्ट (फीमेल)" के लिए ईटीसी चैनल पंजाबी के संगीत पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था। उनको "(मिर्जा)" और "बेस्ट ओरिएंटेड फोक एल्बम (फीमेल)" (उनके एल्बम गैलन प्यार डायन के लिए) और सर्वश्रेष्ठ लोक गायिका महिला 2006 के रूप में सम्मानित किया गया।[2]

डिस्कोग्राफी[संपादित करें]

जसविंदर ब्रार अपने एल्बम जिंडे रेहान के लिए पोज देते हुए

जसविंदर ब्रार के द्वारा गाए गए एल्बम[3]:—

★ मैं नहिं मँगना करौना (2001)

★ मेरा जी नहीं लगदा (2008)

★ अमृतसर नू चलिए (2001)

★ जसविंदर ब्रार की हिट, वॉल्यूम. 2 (2001)

★ हिट्स ऑफ जसविंदर ब्रार, वॉल्यूम. 1 (2010)

★ देवे कोन दिलासा (2009)

★ तेरी याद सतावे (2001)

★ प्यार (द कलर ऑफ लव) (2010)

★ खुल्ला अखाडा (हंजु दुल गए सारे) (2001)

★ तीन गल्लान (2018)

★ जिंदे रेहान (2014)

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Rupinder, Kaler. "ਇਸ ਤਰ੍ਹਾਂ ਬਣੀ ਸੀ ਜਸਵਿੰਦਰ ਬਰਾੜ ਅਖਾੜਿਆਂ ਦੀ ਰਾਣੀ, ਜਾਣੋਂ ਪੂਰੀ ਕਹਾਣੀ". PTCPUNJABI. अभिगमन तिथि 26 मार्च 2020.
  2. "ETC Channel Punjabi Music Awards 06[Nominations]". अभिगमन तिथि 25 मार्च 2020.
  3. "Jaswinder Brar". Dj Punjab.Fm. अभिगमन तिथि 23 मार्च 2020.