जनसाधारण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
भारतीय लेखक आर के लक्ष्मण की "जनसाधारण" (कॉमन मैन) की परिकल्पना पर आधारित पुणे में खड़ी एक मूर्ति

जनसाधारण या साधारण लोग या आम आदमी (अंग्रेज़ी: common man, कॉमन मैन) किसी देश या समाज के वह लोग होते हैं जो किसी सम्भ्रांत वर्ग के सदस्य न हों, यानि उनके पास कोई विशेष या असाधारण सम्पत्ति, अधिकार, सम्मान, राजनैतिक शक्ति, सरकारी पद, प्रतिष्ठा, इत्यादि न हो। साधारण लोगों की अवधारणा में उनका बहुसंख्यक होना भी शामिल है।[1][2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. The common people: a history from the Norman Conquest to the present, J. F. C. Harrison, Fontana Press (1989)
  2. The concept of class: a historical introduction, Peter Calvert, Palgrave Macmillan (1985)