जड़सूत्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जड़सूत्र (principle) या असूल ऐसी विधि या नियम को कहते हैं जिसका पालन अनिवार्य हो या करना चाहिये या जो प्राकृतिक परिघटनाओं या अन्य किसी तथ्य का निश्चित तात्पर्य हो। किसी व्यवस्था के प्रयोगकर्ता उस से सम्बन्धित जड़सूत्रों को समझकर उस व्यवस्था के गुणों, ध्येयों या प्रयोगों को समझने का प्रयास करते हैं। जड़सूत्रों को समझा जाना उस व्यवस्था के इस प्रकार के प्रयोगों को सम्भव कर देता है जो उनके समझे अथवा काम में लाये बिना सम्भव नहीं होते।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Alpa, Guido (1994) "General Principles of Law," Annual Survey of International & Comparative Law: Vol. 1: Is. 1, Article 2.[1]