छुपा रुस्तम (1973 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
छुपा रुस्तम
चित्र:छुपा रुस्तम.jpg
छुपा रुस्तम का पोस्टर
निर्देशक विजय आनन्द
निर्माता विजय आनन्द
लेखक विजय आनंद,
कौशल भारती,
सूरज सनिम
अभिनेता देव आनन्द,
विजय आनन्द,
बिन्दू,
अजीत,
प्रेम चोपड़ा,
ए के हंगल,
रशीद ख़ान,
हेमामालिनी,
प्रेमनाथ,
साजन,
सुधीर,
वीना
संगीतकार सचिन देव बर्मन
छायाकार वी रात्र
संपादक विजय आनन्द
वितरक नवकेतन इंटरनेशनल फिल्म्स
शेमारू विडियो प्रा. ली.
प्रदर्शन तिथि(याँ) 7 मई, 1973
देश भारत
भाषा हिन्दी

छुपा रुस्तम 1973 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है ।

संक्षेप[संपादित करें]

भारत सरकार नंगला परियोजना अन्तर्गत भारत-तिब्बत सीमा पर स्थित पहाड़ियों में अध्ययन के लिए प्रोफ़ेसर हरबंसलाल (ए के हंगल) को रु 50,000 देती है| प्रोफ़ेसर का विश्वास है इन पहाड़ियों में एक स्वर्ण मन्दिर छुपा है| जब विक्रम सिंह (अजीत) व उसका बेटा बहादुर सिंह (प्रेम चोपड़ा) को नंगला परियोजना का पता चलता है तो वे प्रोफ़ेसर का अपहरण कर मन्दिर का पता पूछते है जिसमे प्रोफ़ेसर मारा जाता है| इसके बाद वे करोड़पति राजेंद्र जैन (सज्जन) की पत्नी का अपहरण कर उसकी बेटी ऋतू (हेमा मालिनी) की शादी बहादुर से करने की मांग करते है| राजेंद्र ऋतू से इस बारे में बात कर कुछ संकोच करता है तो अपहरणकर्ता द्वारा भेजा उसकी पत्नी का अंगूठा मिलता है| शादी की तिथि तयकिये अपहरणकर्ताओं को सूचित करते है| इसी बीच नटवरलाल (देव आनंद) ऋतू का अपहरण कर अपना अड्डा लिए जाता है| बीच में उनकी कार खराब होने पर वे जिम्मी फ़र्नांडिस (विजय आनंद) की सहायता लेते है जो उन्हें एक सूनी जगह छोड़ जाता है| नटवरलाल ऋतू के साथ अड्डा पहुँच राजेंद्र को फिरौती के लिए फोन करता है| इस बीच जिम्मी ऋतू का अपहरण करता है| राजेन्द्र इस असमंजस में है पत्नी और बेटी में किसे पहले छुडाएं? इन अपहरणों का नंगला परियोजना क्या संबंध है? बंधक अपहरणकर्ताओं से कैसे छूटते है?

चरित्र[संपादित करें]

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

दल[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

  • गीत "धीरेसे जाना बगियन में" बिनाका गीत माला की 1973 वार्षिक सूची पर 9वीं पायदान पर रही|
गीत गायक गीतकार समय
"धीरेसे जाना बगियन में" किशोर कुमार नीरज 4:16
"हम छुपे रुस्तम हैं" मन्ना डे नीरज 6:11
"बोलो क्या हमको दोगे" किशोर कुमार, आशा भोसले विजय आनंद 4:27
"जलूँ मैं जले मेरा दिल" आशा भोसले नीरज 3:45
"जो मैं होता" किशोर कुमार, आशा भोसले विजय आनंद 5:11
"मैं हूँ छुई मुई" आशा भोसले विजय आनंद 3:24
"सुनो सुनो मेरी दुखभरी दास्ताँ" लता मंगेशकर नीरज 3:55

रोचक तथ्य[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]

बौक्स ऑफिस[संपादित करें]

समीक्षाएँ[संपादित करें]

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]