चीनी साम्राज्यवाद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
चीन के विस्तार की कहानी कहता एनिमेशन । याङ्त्से और पीत नदी की घाटियों से आरम्भ करके अब चीन सम्पूर्ण पूर्वी एशिया पर हाबी है।

चीन के पिछले चार हजार वर्षों के इतिहास को देखने से स्पष्ट होता है कि चीन का साम्राज्यवाद और और उसका विस्तार पूर्वी एशिया के इतिहास की मुख्य विशेषता रही है। २०वीं शताब्दी में पुनः शक्तिसम्पन्न होने के बाद चीन का यह साम्राज्यवाद और विस्तारवाद उसके सभी पड़ोसियों के लिए चिन्ता का विषय है।

आज का चीन साम्यवादी देश होने का केवल दिखावा करता है, लेकिन वास्तव में यह एक पूंजीवादी देश बन चुका है। यह लाभदायक निवेश, कब्जा करने के लिए बाजारों और सस्ते कच्चे माल को प्राप्त करने के लिए पूंजी की तलाश में है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]