विस्तारवाद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

विस्तारवाद (expansionism), सरकारों या राज्यों की वह नीति है जिसमें वे आर्थिक विकास के द्वारा, मृदु शक्ति के द्वारा, या सैन्य आक्रमण के द्वारा अपना राज्यक्षेत्र (territory), शक्ति, समृद्धि या प्रभाव बढ़ाते जाते हैं। चीन, इजराइल, रूस, ईरान और संयुक्त राज्य अमेरिका आदि २१वीं शताब्दी के विस्तारवादी देश हैं। यह मत या सिद्धान्त कि राज्य को अपने अधिकार क्षेत्र और सीमाओं का निरन्तर विस्तार करते रहना चाहिए, भले ही इसमें दूसरे राज्यों या राष्ट्रों का अहित होता हो ।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]