सामग्री पर जाएँ

घूस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
उत्कोच ग्रहण
संयुक्त राष्ट्र भ्रष्टाचार-विरोधी अभिसमय

उत्कोच ग्रहण सार्वजनिक या कानूनी कर्तव्य के प्रभारी किसी अधिकारी, या अन्य व्यक्ति के कार्यों को प्रभावित करने हेतु किसी मूल्यवान वस्तु की प्रस्ताव, देना, प्राप्त करना या याच्ञा है।[1] सरकारी कार्यों के सम्बन्ध में, अनिवार्य रूप से, उत्कोच ग्रहण "भ्रष्ट याच्ञा, स्वीकार, या आधिकारिक कार्यवाही के बदले में मूल्य का हस्तान्तरण" है।[2] बेईमान उद्देश्यों हेतु नहीं, उत्कोच ग्रहण नहीं है। सभी खरीदारों को छूट या धनवापसी की प्रस्ताव करना एक वैध छूट है और यह उत्कोच ग्रहण नहीं है। उदाहरणार्थ, विद्युत दर विनियमन में शामिल एक सार्वजनिक उपयोगिता आयोग के एक कर्मचारी हेतु यह वैध है कि वह विद्युत की सेवा पर छूट स्वीकार करे जो विद्युत हेतु उनकी लागत को कम कर दे, जब छूट अन्य आवासीय विद्युत ग्राहकों हेतु उपलब्ध हो। यद्यपि, उस कर्मचारी को विशेषतः छूट देकर उसे विद्युत उपयोगिता के दर वर्धन आवेदनों पर अनुकूल रूप से देखने हेतु प्रभावित करना उत्कोच ग्रहण माना जाएगा।

उत्कोच एक अवैध या अनैतिक उपहार या पैरवी का प्रयास है जो प्रापक के आचरण को प्रभावित करने हेतु दिया जाता है। यह पैसा, सामान, कार्रवाई में अधिकार, सम्पत्ति, प्राथमिकता, विशेषाधिकार, पारिश्रमिक, मूल्य की वस्तुएँ, लाभ, या किसी आधिकारिक या सार्वजनिक क्षमता में किसी व्यक्ति की कार्यवाही वोट या प्रभाव को प्रेरित या प्रभावित करने का वादा मात्र हो सकता है।[3]

संयुक्त राष्ट्र संधारणीय विकास लक्ष्य 16 में शान्त, न्याय और शक्तिशाली संस्थानों को सुनिश्चित करने के उद्देश्य से अन्तर्राष्ट्रीय प्रयास के भाग के रूप में भ्रष्टाचार और सभी प्रकार की उत्कोच ग्रहण को काफी हद तक कम करने का लक्ष्य है।[4]

इन्हें भी देखें

[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ

[संपादित करें]
  1. "BRIBERY Definition & Meaning - Black's Law Dictionary". The Law Dictionary (अंग्रेज़ी में). 2011-11-04. अभिगमन तिथि 2024-01-17.
  2. "bribery". LII / Legal Information Institute (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2024-01-17.
  3. "Don't Pay for the Misdeeds of Others: Intro to Avoiding Foreign Third-Party FCPA Liability". Perkins Coie (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2024-01-17.
  4. Unit, Digital Solutions. "Sustainable Development Goal 16". United Nations and the Rule of Law (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2023-02-11.