घनश्यामदास जालान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

घनश्यामदास जालान (१९१८ - १९९४) भारत के एक समाजसेवी तथा गीता प्रेस के प्रमुख संस्थापकों में से एक थे। वे एक महान हिन्दीसेवी भी थे।[1]

घनश्यामदास जालान, किशनलाल जालान एवं गोमतीदेवी जालान के पुत्र थे।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Rajasthani: How a mother language can be lost, and how 'folk' histories can reclaim it". मूल से 22 फ़रवरी 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 मार्च 2020.