गोलीय ज्यामिति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
किसी गोले के तल पर स्थित त्रिभुज के तीनो अन्तःकोणों का योग ३६० डिग्री नहीं होता।

गोलीय ज्यामिति (Spherical geometry) किसी गोले के द्विबीमीय-तल का अध्ययन करती है। इसमें दो बिन्दुओं के बीच की न्यूनतम दूरी उन बिन्दुओं के बीच की सरलरेखीय दूरी के बजाय उन बिन्दुओं से जाने वाले वृहदवृत्त के चाँप की लम्बाई को लिया जाता है। यह अयूक्लिडीय-ज्यामिति (नॉन-यूक्लिडियन) का एक प्रकार है। नौकायन (नेविगेशन) तथा खगोलिकी (एस्ट्रोनॉमी) में इसका अनुप्रयोग होता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]