गैम्बलर (1971 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
गैम्बलर
गैम्बलर1.jpg
गैम्बलर का पोस्टर
निर्देशक अमरजीत
निर्माता अमरजीत
लेखक कौशल भारती
अभिनेता देव आनन्द,
शत्रुघ्न सिन्हा,
ज़हीदा
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1971
देश भारत
भाषा हिन्दी

गैम्बलर 1971 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसका निर्देशन और निर्माण अमरजीत ने किया है और इसमें देव आनन्द और शत्रुघ्न सिन्हा हैं।[1]

संक्षेप[संपादित करें]

राजा (देव आनन्द) को बहुत कम उम्र में उसकी माँ द्वारा त्याग दिया गया था। उसे मास्टर (जीवन), आपराधिक डॉन और ताश के पत्ते का जुआरी पालता है। वह चाहता है कि राजा उसके साथ कमीशन के आधार पर काम करना जारी रखे। राजा वह सब सीखता है जो ताश खेलने के बारे में सीखा जा सकता है और मास्टर के साथ काम करना छोड़ देता है, और अपने आपका का काम शुरू करता है।

इसमें वह काफी हद तक सफल होता है, और जल्द ही अमीर हो जाता है। उसे सुंदर चन्द्रा गंगारामा से प्यार हो जाता है, और वह उससे शादी करना चाहता है। लेकिन उसके पिता चाहते हैं कि वह यू. के. राम मेहता से शादी करे। इससे पहले कि राजा इस गठबंधन के खिलाफ कुछ कर या कह सके, उस पर मास्टर की हत्या का आरोप लग जाता है। राजा का जीवन अदालत में खुलता है जहां उसे अपने अतीत और अपने माता-पिता के बारे में पता चलता है।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

सभी गीत नीरज[2] द्वारा लिखित; सारा संगीत एस॰ डी॰ बर्मन द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."चूड़ी नहीं ये मेरा दिल है"किशोर कुमार, लता मंगेशकर4:20
2."मेरा मन तेरा प्यासा"मोहम्मद रफी4:10
3."कैसा है मेरा दिल तू खिलाड़ी"किशोर कुमार3:32
4."दिल आज शायर है"किशोर कुमार3:28
5."अपने होंठों की बंसी"लता मंगेशकर, किशोर कुमार3:49

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने पकड़ लिया था देव आनंद का कॉलर, डायरेक्‍टर ने बुरी तरह लगाई थी फटकार". जनसत्ता. 6 जनवरी 2018. अभिगमन तिथि 17 मार्च 2019.
  2. "कवि गोपालदास नीरज का 93 वर्ष की उम्र में निधन, दिल्ली के एम्स में ली आखिरी सांस". दैनिक भास्कर. 19 जुलाई 2018. अभिगमन तिथि 17 मार्च 2019.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]