गुलाब जामुन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search


गुलाब जामुन

गुलाब जामुन एक प्रकार का पकवान है जो मैदे, खोये तथा चीनी से बनाया जाता है।गलाब जामुन नामक एक फल भी होता है, जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं।

गुलाब जामुन एक फ़ारसी भाषा का शब्द है[1]

गुलाब जामुन बनाने के लिये प्रतिकिलो खोये मे सौ ग्राम मैदा मिलाये। ।इसमेँ थोड़ा बेकिँग सोडा मिलाएँ। अब इसे अच्छी तरह गूँथे (मिलाइए)। गुलाब जामुन तो लगभग सभी की पसंदीदा मिठाई है। अक्सर आप इन्हें किसी विशेष उत्सव या समारोह में खाते होंगे या फिर कभी-कभी बजा़र से लाकर। पर क्या कभी आपने इन्हें घर पर बनाया है? यदि नहीं तो आज बनाकर देखिये। गुलाब जामुन दो तरीके से बनते हैं। मावे में थोड़ा सा मैदा मिला कर और मावे में पनीर मिला कर। दोनों ही तरह से बने हुए गुलाब जामुन अत्यंत स्वादिष्ट लगते हैं। आइये आज हम मावे में पनीर मिला कर गुलाब जामुन बनाते हैं। समय : करीब 1-1.1/2 घंटा आवश्यक सामग्री:

 मावा (खोया) - 250 ग्राम (1.1/4 कप)
 पनीर - 100 ग्राम (1/2 कप)
 मैदा - 20-30 ग्राम (2-3 टेबल स्पून)
 काजू - 1 टेबल स्पून (एक काजू को 8 टुकड़ों में काट लीजिये)
 किशमिश - 1 टेबल स्पून
 चीनी - 600 ग्राम (3 कप)
 घी - गुलाब जामुन तलने के लिये

विधि: चाशनी बनाने का तरीका-

एक बर्तन में चीनी और चीनी की मात्रा से आधा पानी मिलाकर गैस पर पकने रख दीजिये। जब चाशनी में उबाल आ जाए और सारी चीनी पानी में अच्छे से घुल जाए, उसके बाद 1-2 मिनट तक और पकायें। फिर चाशनी के घोल में से 1-2 बूंदे लेकर प्लेट में टपकाएं और अंगूठे व उंगली के बीच चिपका कर देखें। यदि चाशनी उंगली व अंगूठे के बीच चिपक रही हो तो समझिये की वह बन गई है और यदि ना चिपके तो उसे थोड़ा और पका लीजिये। जब यह चिपकने लगे तो ठंडा करके छान लीजिये। गुलाब जामुन बनाने का तरीका-

एक चौड़े और बड़े बर्तन में मावा, पनीर और मैदा डालकर नरम व चिकना आटा गूथ लें। गुलाब जामुन बनाने के लिये मावा तैयार है। अब इसमें से थोड़ा सा मावा ( करीब एक छोटी चम्मच ) उंगलियों की सहायता से निकालिये और उसे हथेली पर रखकर चपटा कर लीजिये। 3-4 काजू के टुकड़े और एक किशमिश उसके ऊपर रख कर मावे को चारों ओर से उठा कर बंद कर दीजिये और दोनों हथेलियों के बीच रख कर गोल करके प्लेट में रख लीजिये। सारे गोले इसी तरह तैयार कर लीजिये।

कढ़ाई में घी गर्म कीजिये और उसमें 3-4 गोले डाल कर तल लीजिये (गैस धीमी ही रखें और गुलाब जामुन को तलते समय उस पर बार-बार कलछी न लगायें बल्कि उस पर कलछी से गरम गरम घी डालें)। गुलाब जामुन को चारों तरफ से ब्राउन होने तक तलिये और फिर निकाल कर प्लेट में रख लीजिये। ठंडा होने के बाद सभी गुलाब जामुनों को 1-2 घंटे के लिये चाशनी में डाल कर छोड़ दीजिये ताकि गुलाब जामुन सारी चाशनी अच्छे से सोखकर मीठे और स्वादिष्ट हो जाएं।

गुलाब जामुन तैयार हैं। अब इन्हें गरम गरमा या ठंडा करके परोसिये और खाइये।

झारखंड के टाटीझरिया प्रखंड(हजारीबाग) का गुलाब जामुन प्रसिद्ध है। यह सामान्य रूप से गोल न होकर बेलनाकार होता है,, जो शुद्ध घी में बना होता है। इस सड़क(NH-100) से होकर गुजरने वाली ज्यादातर गाड़ियाँ यहाँ कुछ देर के लिए रूकती है। लोग स्वंय इसको चखते है तथा अपने परिजनों के लिए भी ले जाते है।

नोट:

 यदि गुलाब जामुन घी में फट रहे हों या फिर ज्यादा नरम बन रहे हों तो थोडा सा मैदा, मावे के आटे में मिलाकर अच्छी तरह मल लें।
 यदि गुलाब जामुन ज्यादा सख्त बन रहे हों तो मावा के आटे में थोड़ा सा ( 1-1 1/2 टेबल स्पून ) दूध मिलाकर अच्छी तरह मल लें।
 अधिक गरम चाशनी में गुलाब जामुन ना डालें।

आटे के गुलाब जामुन[संपादित करें]

गुुलाब जामुन बहोत प्रकार से बनाए जातेे है जिसमे खोया से बनने वाला गुुुलाब जामुन सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है ,इसके अलावा सूजी से  भी बनाया जाने वाला गुुुलाब जामुन भी अभी काफी प्रचलन में है,पर मैं यहां आपको गेंहू के आटे से गुुलाब जामुन बनानेे की विधि बताने जा रही हूं जो कि बाकी गुुुलाब जामुन की तरह ही  स्वादिष्ट होते है ।[2]

सामग्री:[संपादित करें]

गेहू का आटा- 1 कप

मिल्क पाउडर -1/2 कप

खाने वाला सोड़ा- 1 चम्मच

इलाइची पाउडर -1 चम्मच

चीनी -250 ग्राम

तलने के लिए घी या तेल -  आवस्यकता अनुसार

दूध - आवश्यकता अनुसार

खाने वाला रंग - 1 चुटकी

गुलाब जल - 1चम्मच

चाशनी बनाने की विधि:[संपादित करें]

-एक पैन में चीनी और एक कप पानी डाल कर गर्म करें ।

- जब ये खौलने लगे तो इसमें एक चम्मच दूध डाले,आप देखेंगे चाशनी के ऊपर चीनी की गंदगी आने लगेगी इसे किसी चम्मच की सहायता से निकल दें।अब चाशनी बिल्कुल साफ और पारदर्शी नजर आएगी।

- अब इसमे इलाइची पाउडर,खाने वाला रंग डाल कर एक तार की चाशनी बना लें और उसमे सुगंध के लिए गुलाब जल भी डाल दें।

विधि:[संपादित करें]

- सबसे पहले एक पैन में आटे को हल्का सुनहरा भून लें (ज्यादा नही भुनाना है) ओर ठंडा होने दें।

- अब एक बर्तन में भुने हुए आटे ,मिल्क पाउडर ओर बेकिंग सोडा डाल कर अच्छी तरह मिक्स करें ।

- अब दूध डाल कर ढीला ढाल आटा गूंद लें ,ओर थोड़ी देर छोड दें।

- अब आटे की छोटी- छोटी लोइया बना लें।

- एक कड़ाई में घी गर्म करें और सुनहरा होने तक तल लें।

-अब इन्हें तैयार चाशनी में डाल कर एक घंटे के लिए छोड़ दें ताकि गुलाब जामुन में रस अच्छे से चले जाएं ।

आटे से बना गुलाब जामुन बिलकुल तैयार है।

चित्रदालन[संपादित करें]

  1. "संग्रहीत प्रति". Archived from the original on 12 अक्तूबर 2018. Retrieved 12 अक्तूबर 2018. Check date values in: |access-date=, |archive-date= (help)
  2. jaiswal, nidhi. "NIDHI KI RASOI". www.nidhikirasoi.in. Archived from the original on |archive-url= requires |archive-date= (help). Retrieved 2020-07-07.